किसे मिलेगी कमान, सिंधिया को PCC अध्यक्ष बनाये जाने के पक्ष में नहीं यह विधायक

-Who-will-get-the-command-congress-mla-laxman-singh-against-scindia-

भोपाल| लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन की मांग तेज हो गई है| जल्द ही संगठन में बड़े बदलाव देखने को मिल सकते हैं| वहीं प्रदेश अध्यक्ष को लेकर कांग्रेस में घमासान मचा हुआ है| नए प्रदेश अध्यक्ष के लिए पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम सबसे ऊपर माना जा रहा है क्यूंकि सिंधिया समर्थक खुलकर यह मांग कर रहे हैं कि प्रदेश की कमान उन्हें सौंपी जाए| वहीं कुछ नेता इसके पक्ष में नहीं हैं| कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह ने इसका विरोध किया है, उन्होंने कहा है कि सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष नहीं बनाया जाना चाहिए| 

विधायक लक्ष्मण सिंह ने सिंधिया को कांग्रेस की कमान सौंपने पर एतराज जताया है| उन्होंने इसके पीछे तर्क भी दिया है, उनका कहना है कि सिंधिया के पास समय की कमी है, क्‍योंकि वे उत्तर प्रदेश में भी पार्टी का काम देख रहे हैं, लिहाजा उनको मध्य प्रदेश पीसीसी का अध्यक्ष नहीं बनाया जाना चाहिए| लक्ष्मण सिंह ने साफ कहा कि पार्टी हाईकमान को सिंधिया की जगह किसी दूसरे के नाम पर विचार करना चाहिए| लक्ष्मण सिंह के इस बयान से एक बार फिर कांग्रेस में अंदरखाने प्रदेश अध्यक्ष को लेकर सरगर्मियां शुरू हो गई है, वहीं पार्टी नेता इसे उनकी निजी राय बता रहे हैं| 

बता दें कि लोकसभा चुनाव में बड़ी पराजय के बाद से ही कांग्रेस में घमासान शुरू हो गया है, क्यूंकि इस चुनाव में प्रदेश कांग्रेस के सभी दिग्गज चुनाव हार गए| इस बीच कई नेताओं ने खुलकर संगठन में फेरबदल की मांग की है| इनमे सबसे पहला नाम लक्ष्मण सिंह का ही आता है, जिन्होंने पिछले दिनों कहा था कि सही व्यक्ति को संगठन का काम सौंपना जरूरी है| उनकी राय है कि प्रदेश अध्यक्ष बदला जाना चाहिए लेकिन सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष नहीं बनाया जाना चाहिए| वहीं सिंधिया समर्थकों में उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने के लिए लॉबिंग तेज हो गई है, अब तक कई बड़े नेता इसकी पैरवी कर चुके हैं| वहीं गृहमंत्री बाला बच्चन का नाम भी इस दौड़ में शामिल है| देखना होगा प्रदेश की कमान किसे मिलेगी| सीएम कमलनाथ एक साथ दो बड़े पदों की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं| आगामी चुनावों को देखते हुए संगठन को मजबूत करने के लिए प्रदेश अध्यक्ष बदले जाने की अटकलें हैं| शुक्रवार को कांग्रेस की कोर कमिटी की बैठक होना है, जिसमे इस सम्बन्ध में चर्चा कर हाईकमान तक प्रस्ताव पहुँचाया जा सकता है|