सीएम मोहन यादव को मिली Z+ की सुरक्षा, बुलेट प्रूफ कार, इर्द-गिर्द रहेंगे NSG कमांडो, 15-18 गाड़ियों का काफिला

Corona New Variant

MP CM Mohan Yadav Z Plus Security : डॉक्टर मोहन यादव के मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बनते ही सिक्योरटी बढ़ा दी है।अब मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव जेड प्लस (Z+) सुरक्षा के घेरे में रहेंगे। उनकी सुरक्षा में एनएसजी कमांडो की टीम समेत प्रदेश की पुलिस को भी तैनात किया किया है।इससे पहले उनके बंगले की सुरक्षा बढ़ाई गई थी।

बुलेट प्रूफ कार, इर्द-गिर्द रहेंगे NSG कमांडो

सीएम मोहन यादव की सुरक्षा में 36 NSG कमांडो, 2 एसपी, 2 एएसपी और 4 डीएसपी ,विशेष सुरक्षा बल के जवान और राज्य पुलिस के हथियारबंद जवान तैनात किए जाएंगे।इसके अलावा 15 से 18 गाड़ियों का कारकेड होगा। इस काफिले में एक बुलेटप्रूफ कार भी शामिल है जिसमें वह सवार रहेंगे।बता दें कि भाजपा प्रदेश कार्यालय से नए सीएम का नाम घोषित होते ही डॉ. मोहन यादव को सख्त सुरक्षा व्यवस्था के साथ राजभवन और वहां से अपने बंगले तक ले जाया गया था।वही इसके तुरंत बाद ही सीएम डॉ. यादव के बंगले के बाहर और अंदर सिक्योरिटी बढ़ा दी गई थी। इधर, प्रदेश के सीएम की सुरक्षा को लेकर गृह विभाग भी अलर्ट मोड में आ गया है।

आज राजस्थान जाएंगे मोहन यादव

आज 15 दिसंबर को सीएम मोहन यादव मुख्यमंत्री भजनलाल के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए राजस्थान जाएंगे।इसकी जानकारी उन्होंने खुद सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स के माध्यम से दी है, उन्होंने लिखा है कि आज राजस्थान के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री भजनलाल जी के शपथ ग्रहण समारोह में उपस्थित रहूंगा।आदरणीय प्रधानमंत्री मोदी जी के कुशल नेतृत्व में राजस्‍थान में भाजपा की ऐतिहासिक विजय जनता के अभूतपूर्व विश्वास को दर्शाती है। निश्चित ही प्रदेश प्रगति व विकास का एक नया अध्याय लिखेगा।

पहली कैबिनेट में लिए थे ये बड़े फैसले

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के 19वें मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद से ही डॉ. मोहन यादव एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं। पहली कैबिनेट बैठक में ही उन्होंने एक साथ कई अहम फैसले लिए है। इसमें खुले में मांस और मटन की बिक्री बंद करने का आदेश, सभी जिलों में संचालित महाविद्यालयों का प्रधानमंत्री उत्कृष्ठता महाविद्यालय के रूप में उन्नयन करने और आदतन अपराधियों पर नकेल कसने की तैयारी के साथ लाउडस्पीकर के अनियंत्रित इस्तेमाल को लेकर भी दिशा-निर्देश जारी किए थे। साथ ही सीएम ने अधिकारियों के साथ बैठक कर कई विभागों की जानकारी भी ली थी।

 


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News