कोरोना वायरस: इंदौर में सोशल डिस्टेंसिंग का मतलब इस जानवर ने समझाया

280

इंदौर।आकाश धौलपुरे।

जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज़ो की संख्या लगातार सामने आ रही है। लिहाजा कलेक्टर ने बुधवार दोपहर 2 बजे से कर्फ्यू लगा दिया। इसके साथ ही इंदौर कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव सहित अन्य बड़े प्रशासनिक अधिकारियों ने आम जनता से अपील भी की है कि वो पुलिस – प्रशासन को सहयोग करे और अपने व अपनो के लिए घरों में रहे। वही कलेक्टर ने खाद्य पदार्थों सहित अनिवार्य वस्तुओं की खरीदी के लिए सुबह 7 बजे से लेकर दोपहर 2 बजे तक का समय निर्धारित किया है और अपील की है कि घर का कोई एक व्यक्ति बाहर निकालकर खरीदी कर सकता है। लेकिन इस बात की हिदायत भी प्रशासन ने लोगो को दी है कि खरीदी करते समय वो सोशल डिस्टेंससिंग का ध्यान रखे। लिहाजा शहर भर के दूध, दवाई और किराना सामान विक्रेताओं ने अपने प्रतिष्ठानो पर 1 से 3 मीटर की दूरी के मानक का उपयोग कर मार्किंग की है ताकि लोग एक दूसरे और विक्रेता के संपर्क में ना आये।

बावजूद इसके शहर के कई स्थानों पर लोग इस बात को समझ नही पा रहे है और एक दूसरे से दूरी बनाने के बजाय पहले सामान खरीदने की होड़ लगाए हुए है। ऐसे ही माहौल में आज सुबह 10 बजे के करीब इंदौर के पश्चिम क्षेत्र से एम. पी. ब्रेकिंग न्यूज़ के कैमरे एक ऐसी तस्वीर आई है जो समाज के उन लोगो को आइना दिखाने के लिये काफी है जो इस कठिन घड़ी में कोरोना से लड़ाई के नियमो का पालन नही कर रहे है।

दरअसल, तस्वीर इंदौर के स्किम नम्बर 71 की एक किराना दुकान की है जहां एक श्वान उस गोल घेरे में खड़ा था जहां आम लोगो को दूरी बनाकर खड़े रहने की अपील की जा रही है। भूख की पीड़ा से गुजर रहे श्वान को इंतजार था कि उसकी बारी आयें तो दुकानदार से वो गुहार लगाए की उसे कुछ खाने को मिल जाये और जब उसकी बारी आई तो दुकानदार ने आखिर में उसे कुछ खाने को दिया। ये तस्वीर साफ बोल रही है वक्त है कोरोना से लड़ने जिसकी समझ एक वफादार जानवर को है तो फिर आप और हम तो इंसान है। लिहाजा, मास्क लगाकर जरुरत पड़ने पर बाहर निकले और कर्फ्यू का पालन करते हुए घर मे रहे ताकि कोरोना से जंग 21 दिनों में ही जीती जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here