युगांडा में कोरोना के बाद इस वायरस ने मचाया कहर, जानिए कितना खतरनाक है यह वायरस

युगांडा से नए वायरस की खबर ने कोरोना के बाद एक फिर दुनिया को हिलाकर रख दिया है। तो आइए जानते हैं कितना खतरनाक है यह वायरस

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट | वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तबाही मचाई थी। इस दौरान लाखों की संख्या में लोग रोजाना अपने जीवन से हाथ धो रहे थे। इस महामारी के कारण लोगों ने एक-दूसरे से मिलना तक बंद कर दिया था। सभी देशों में लॉकडाउन लगा दिया गया था, जिससे महामारी को फैलने से रोका जा सके। जिसके कारण सभी देशों को बहुत ज्यादा आर्थिक नुकसान हुआ था। इस तबाही से अभी भी ऊभरा नहीं जा सका है इसी बीच युगांडा से नए वायरस की खबर ने कोरोना के बाद एक फिर दुनिया को हिलाकर रख दिया है। तो आइए जानते हैं कितना खतरनाक है यह वायरस और कितनी तबाही मचा सकता है।

यह भी पढ़ें – Vivo ने लॉन्च किया नया धांसू फोल्डेबल स्मार्टफोन

दरअसल, इस खतरनाक और जानलेवा वायरस का नाम इबोला वायरस है। जो कि अब तक युगांडा में 23 लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है। बता दें कि यह संक्रमण वायरस कोरोना वायरस से भी ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है जो कि बड़ी तेजी से फैल रहा है। जिससे युगांडा सरकार की चिंता एक बार फिर से बढ़ गई है। वहीं, मामले को गंभीरता से लेते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने एक टीम गठित कर युगांडा सरकार की मदद के लिए भेजा है।

यह भी पढ़ें – भिलाई के युवक का कारनामा, Pushups में बनाया अनोखा रिकॉर्ड, Indian Book of Records में नाम दर्ज

बता दें कि युगांडा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश के कई जिलों में इस वायरस की पुष्टि की है। जिनमें मुबेंडे, कायगेगवा और कसांडा जिलों का नाम भी शामिल है। बता दें कि इस वायरस से संक्रमित लोगों में बुखार, कमजोरी, शरीर में दर्द, सिर दर्द,गले में खराश, उल्टी, दस्त जैसे लक्षण पाए जाते हैं। जिसके कुछ दिनों बाद ही उचित ट्रीटमेंट ना मिलने के कारण उनकी मौत हो जाती है। यह वायरस इतना खतरनाक है कि कोरोना डोज ले चुके इंसानों पर भी यह अपना कहर बरपा रहा है। फिलहाल WHO के अनुसार, अब तक इस वायरस का कोई टीका नहीं है लेकिन तमाम वैज्ञानिक इसका टीका बनाने के कार्य में जुट गए हैं।

यह भी पढ़ें – शिवराज कैबिनेट के 6 बड़े फैसले: महाकाल परिसर का नाम होगा ‘महाकाल लोक’, इस योजना में संशोधन, 36 नए पद समेत इन प्रस्तावों को मंजूरी

वहीं, रूस के वैज्ञानिकों ने भी चमगादड़ में खोस्ता-2 नाम नामक वायरस की पुष्टि की है जो कि लोगों में बीमारी फैलाने में सक्षम है। वैज्ञानिकों का दावा है कि लोगों में भी इस वायरस का असर देखा जाएगा क्योंकि यह कोरोना वायरस से भी ज्यादा पावरफुल बताया जा रहा है। साल 2020 में कोरोना काल के दौरान ही इस वायरस की पुष्टि की गई थी। उस वक्त वैज्ञानिकों ने रिसर्च में पाया था कि अब इंसानों को नुकसान नहीं पहुंचाएगा लेकिन नए रिसर्च के बाद इस बात का दावा किया जा रहा है कि यह वायरस बहुत जल्द पूरी दुनिया के लिए खतरा बन सकता है।

यह भी पढ़ें –  Xiaomi Civi 2 हुआ लॉन्च, मिल रहा है 2 फ्रंट कैमरा, iPhone 14 प्रो जैसी डिजाइन, यहाँ जानें कीमत और फीचर्स