चन्द्रमा की सतह पर गिरा एक अंजान रॉकेट, NASA भी है हैरान

NASA ने हाल ही के चंद्रमा की सतह की तस्वीर जारी की है जिसमे एक रॉकेट क्रैश से बने दो गड्ढे दिखाई दे रहे हैं। NASA ने इसे हैरान करने वाला बताया है क्योंकि ऐसी टक्कर से सिर्फ एक ही गड्ढा बन सकता है, जबकि फ़ोटो में दो गड्ढे दिखाई दे रहे हैं। ये रॉकेट कहां से आया यह भी अभी तक रहस्य बना हुआ है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA ने हाल ही में चंद्रमा की सतह की तस्वीर जारी की है जिसमें सतह पीकर दो गड्ढे दिखाई दे रहे हैं। इस तस्वीर ने वैज्ञानिकों के सामने बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है। दरअसल, इसी साल मार्च में चांद की सतह से एक रहस्यमय रॉकेट टकरा गया था, जिसके कारण चांद की सतह पर दो गड्ढे (double crater) बन गए। NASA के लूनर रिकोनिसेंस ऑर्बिटर ने असामान्य क्रेटर वाली चांद की सतह की यह तस्वीर खींचकर भेजी है।

यह भी पढ़ें – Madhya Pradesh : आज एक साथ होगी 2 खगोलीय घटना, दिखेगा साल का पहला सुपरमून

NASA के वैज्ञानिकों के लिए 2 क्रेटरों का बनना रहस्य बना हुआ है, क्योंकि कोई भी चीज एक जगह गिरने से एक ही गड्ढा बाँटक है ना कि दो। तब राकेट गिरने से दो गड्ढे कैसे बने।

यह भी पढ़ें – अंतरिक्ष में हुई एक नए ब्लैक होल की खोज, जो हर सेकंड 1 पृथ्वी के बराबर हो रहा बड़ा

रॉकेट के टकराने से दो क्रेटर बने हैं। जिसमें, पूर्वी गड्ढा 18 मीटर व्यास का है और पश्चिमी गड्ढे का व्यास 16 मीटर का है। आमतौर पर इस्तेमाल हो चुके रॉकेट में  मोटर के आखिर में ही सबसे ज्यादा द्रव्यमान होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इस हिस्से को छोड़कर बाकी रॉकेट केवल एक खोखला ईंधन टैंक होता है। लेकिन डबल क्रेटर बनने से अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि चंद्रमा से टकराने वाले राकेट के दोनों सिरों पर बड़ा द्रव्यमान मौजूद था। हालांकि, ये रॉकेट कहां से आया यह भी अभी तक रहस्य बना हुआ है।