एड्स के सफल इलाज का दावा, एक इंजेक्शन करेगा काम तमाम 

वैज्ञानिकों का दावा है कि जीन एडिटिंग की मदद से टाइप बी व्हाइट ब्लड सेल्स का इस्तेमाल कर यह वैक्सीन तैयार की गई है जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को सक्रिय करती है।

डेस्क रिपोर्ट। इजराइल के वैज्ञानिकों ने भयावह और लाइलाज बीमारी एड्स का सफल इलाज खोजने का दावा किया है। वैज्ञानिकों का दावा है कि उन्होंने वह वैक्सीन तैयार कर ली है जिसका एक डोज ही एड्स के वायरस का काम तमाम कर देगा।

एड्स को एक लाइलाज बीमारी माना जाता है और पूरी दुनिया में लगभग 3.79 करोड़ लोग एचआईवी संक्रमण की चपेट में है ।2017 में इस बीमारी के चलते लगभग 8 लाख लोगों की मौत हो गई थी। हालांकि जागरूकता के चलते इस बीमारी से मरने वाले लोगों की संख्या में कमी आ रही है लेकिन उसके बावजूद इस का भय बना हुआ है। लेकिन अब इजराइल के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि उन्होंने जीन एडिटिंग से एक वैक्सीन तैयार कर ली है जिससे एड्स का इलाज संभव होगा। यह रिसर्च इजराइल की तेल अवीव यूनिवर्सिटी की द जॉर्ज एस वाइस फैकल्टी ऑफ लाइफ साइंसेज ने की है।

दरअसल मानव की श्वेत रक्त में बी कोशिकाएं मौजूद होती है जो वायरस से लड़ने में मददगार होती है। वैक्सीन की मदद से बी कोशिकाओं को वैज्ञानिकों ने शरीर में ही तैयार करने में सफलता पाई है। वैज्ञानिकों का दावा है कि जीन एडिटिंग की मदद से टाइप बी व्हाइट ब्लड सेल्स का इस्तेमाल कर यह वैक्सीन तैयार की गई है जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को सक्रिय करती है। इससे शरीर में एंटीबॉडी तैयार हो जाती है और यह एड्स को खत्म कर देती है। इस मामले में महत्वपूर्ण बात यह है कि यदि वायरस अपना स्वरूप बदलता है तब बी कोशिकाएं भी बदल जाएंगी।