कोरोना वैक्सीन फाइजर को इस्तेमाल की मिली मंजूरी, अगले सप्ताह से लगाया जाएगा टीका

वैक्सीन वितरण कमेटी ने यह तय किया है कि सबसे पहले वैक्सीन गंभीर हालात वाले मरीजों के अलावा मेडिकल स्टाफ और चिकित्साकर्मी सहित बुजुर्गों को दिया जाएगा। इसके बाद अति संक्रमित इलाकों के निवासियों को वैक्सीन का डोज दिया जाएगा।

लंदन/नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। विश्व में कोरोना (corona) के बढ़ते कहर के बीच एक राहत भरी खबर सामने आई है ब्रिटेन के फाइजर (Pfizer) और बायोटेक ने कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है। ऐसा करने वाले ब्रिटेन विश्व का पहला देश बन गया है। ब्रिटेन ने फाइजर वैक्सीन (vaccine) को अप्रूवल (approval) देने के साथ ही अगले सप्ताह से इस्तेमाल की भी अनुमति दी है। वही सबसे पहले यह वैक्सीन संक्रमित मरीजों के साथ साथ बुजुर्गों को लगाया जाएगा।

दरअसल फाइजर बायोएंडटेक (Pfizer & Biontech) कोरोना वैक्सीन को मंजूरी देने वाला पहला पश्चिमी देश बन गया है। वहीं ब्रिटेन ने फाइजर और बायो एंड टेक को चार करोड़ वैक्सीन डोज का आर्डर दिया है। बताया जा रहा है कि फाइजर वैक्सीन संक्रमण को रोकने में 95 से ज्यादा प्रभावी रही है। इधर इस मामले में ब्रिटेन के वैक्सीन मंत्री नदीम जहावी ने कहा है कि यदि सब कुछ योजना के मुताबिक होता है तो कुछ ही घंटों में वैक्सीन का वितरण और टीकाकरण शुरू कर दिया जाएगा। जिसके बाद माना जा रहा है कि अगले हफ्ते से ब्रिटेन में टीका लगाने की शुरुआत की जा सकती है।

Read More: आदिवासी नेता होगा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष, ये दो पूर्व मंत्री है प्रबल दावेदार, जल्द होगी घोषणा

इस मामले में ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने ट्वीट करते हुए कहा है बायोटेक की वैक्सीन को अधिकृत किया गया है और जल्द ही एनएचएस का टीकाकरण किए जाने की तैयारी की जा रही है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि ब्रिटेन दुनिया का पहला देश होगा। जिसने आपूर्ति के लिए क्लीनिकल ट्रायल के बाद यह मंजूरी दी है।

वहीं ब्रिटेन की वैक्सीन वितरण कमेटी ने यह तय किया है कि सबसे पहले वैक्सीन गंभीर हालात वाले मरीजों के अलावा मेडिकल स्टाफ और चिकित्साकर्मी सहित बुजुर्गों को दिया जाएगा। इसके बाद अति संक्रमित इलाकों के निवासियों को वैक्सीन का डोज दिया जाएगा।

बता दें कि पिछले दिनों फैशन वैक्सीन के अंतिम और बड़े पैमाने पर किए गए परीक्षण में वैक्सीन को 95 फीसद तक सफल बताया था। जिसके बाद वैक्सीन को अप्रूवल देने के लिए ब्रिटेन में आवेदन किया था। वहीं मेडिकल अथॉरिटी की मंजूरी मिलने के बाद स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी फाइजर वैक्सीन को अप्रूवल दे दी है। वहीं मुमकिन है कि भारत में फरवरी के अंत तक वैक्सीन उपलब्ध हो जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here