व्लादिमीर पुतिन अब किम जोंग उन के साथ मिलकर करेंगे द्विपक्षीय संबंधों का विस्तार

इस बीच यूक्रेन ने इस फैसले के बाद तुरंत दक्षिण कोरिया से अपने संबंध खत्म कर लिए है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के बीच यहां व्लादिमीर पुतिन ने एक बड़ा बयान देते हुए यह साफ किया कि वह जल्द ही उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ मिलकर द्विपक्षीय संबंधों का विस्तार करेंगे।

जानकारी के मुताबिक, कोरिया के मुक्ति दिवस के लिए किम को लिखे एक पत्र में, पुतिन ने कहा कि घनिष्ठ संबंध दोनों देशों के हित में होंगे, और कोरियाई प्रायद्वीप और पूर्वोत्तर एशियाई क्षेत्र की सुरक्षा और स्थिरता को मजबूत करने में मदद करेंगे।

इस दौरान किम ने भी पुतिन को एक पत्र भेजा जिसमें कहा गया है कि दोनों देशों के बीच रणनीतिक और सामरिक सहयोग, समर्थन और एकजुटता एक नए स्तर पर पहुंच गई है, जो शत्रुतापूर्ण सैन्य बलों के खतरों और उकसावे को नाकाम करने के लिए उनके सामान्य प्रयास हैं। हालांकि, अभी तक शत्रु कौन है, इसे लेकर तस्वीर साफ नहीं हुई है, लेकिन इशारा अमेरिका और उसके सहयोगियों की तरफ माना जा रहा है।

ये भी पढ़े … मुकेश अंबानी को मिली फिर से धमकी भरी कॉल, एक शख्स हिरासत में

इस दौरान पात्र में उन्होंने ये भी लिखा कि द्वितीय विश्व युद्ध में जापान पर जीत के साथ रूसी-उत्तर कोरियाई दोस्ती अच्छी नहीं थी, क्योंकि उस दौरान रूस ने कोरियाई प्रायद्वीप (Korean peninsula) पर कब्जा कर लिया था।

हालांकि, इससे पहले भी किम ने 2019 में पुतिन के साथ मुलाकात के दौरान हस्ताक्षरित एक समझौते के आधार पर रूस और उत्तर कोरिया के बीच सहयोग बढ़ने की भविष्यवाणी की थी।

बता दे, जुलाई में उत्तर कोरिया ने पूर्वी यूक्रेन में दो रूसी समर्थित “पीपुल्स रिपब्लिक” को स्वतंत्र राज्यों के रूप में मान्यता दी थी।

ये भी पढ़े … नए क्रिप्टो प्रोजेक्ट के तहत ब्लॉकचैन को अपने नियमों के हिसाब से कर सकेंगे इस्तेमाल

इस बीच यूक्रेन ने इस फैसले के बाद तुरंत दक्षिण कोरिया से अपने संबंध खत्म कर लिए है। अभी भी रूस-यूक्रेन युद्ध किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंचा है, जहां जेलेंस्की अभी भी रूस के सेना का डटकर सामना कर रहे है।