नीदरलैंड की सत्ता की कमान संभाल सकते हैं गीर्ट विल्डर्स! नूपुर शर्मा का जमकर किया था समर्थन

Geert Wilders

Greet Wilders: बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने जब पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी की थी उस समय भारत ही नहीं बल्कि दुनिया भर में बवाल मच गया था। इस सारे विवाद के बीच उन्हें नीदरलैंड से समर्थन मिला था। यह सपोर्ट उन्हें यहां के सांसद गीर्ट विल्डर्स ने किया था। वह यह कहते दिखाई दिए थे कि “मैं भारत से अपील करूंगा कि वो कट्टरपंथी मुसलमान देशों के दबाव में बिल्कुल ना आए।” अब एक बार फिर नुपुर शर्मा का नाम चर्चा में है क्योंकि गीर्ट को सुर्खियों में बने हुए देखा जा रहा है और वह नीदरलैंड के प्रधानमंत्री बन सकते हैं।

नीदरलैंड में हाल ही में संसदीय चुनाव हुए हैं और एग्जिट पोल के अनुमानों में गीर्ट को लगातार भारी जीत की ओर बढ़ते हुए देखा जा रहा है। दूसरे विश्व युद्ध के बाद पहली बार नीदरलैंड में इतना बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है, जिसका असर पूरे यूरोप पर नजर आ सकता है।

कौन है गीर्ट विल्डर्स

गीर्ट नीदरलैंड के चर्चित राजनेताओं में से एक है जिन्होंने स्पीच राइटर के तौर पर अपनी राजनीति की शुरुआत की थी। इसके बाद वह खुद ही राजनीति में उतर गए और साल 2006 में अपना एक दल बनाया जिसका नाम पार्टी फॉर फ्रीडम है। इस पार्टी के देश की सत्ता में आने का दावा तेजी से किया जा रहा है। एग्जिट पोल के रुझान में यह बताया जा रहा है कि सभी पार्टियों को मात देते हुए यह दल 35 सीट जीत रहा है जबकि पिछली बार इनके खाते में सिर्फ 17 सीट गई थी। अगर एग्जिट पोल के रुझान नतीजे में बदलते हैं तो पीवीवी सबसे बड़ी पार्टी होगी जो विल्डर्स की अगुवाई में चलेगी। हालांकि, सरकार बनाने के लिए अन्य दलों के साथ हाथ मिलना जरूरी है क्योंकि बहुमत का आंकड़ा 76 सीटों का है।

यूरोप को राजनीति पर असर

विल्डर्स को इस्लाम विरोधी माना जाता है और वो अक्सर इस्लाम को लेकर अपनी तीखी आलोचना और आप्रवासन नीतियों के चलते चर्चा में बने रहते हैं। नीदरलैंड चुनाव में उनकी जीत पूरे यूरोप की राजनीति को हिला कर रख सकती है। विल्डर्स अपने खुले विचारों के चलते हमेशा चर्चा का हिस्सा रहते हैं और इस्लाम के खिलाफ बोलने के चलते उन्हें हमेशा कड़ी सुरक्षा में रखा जाता है। नूपुर शर्मा के बयान का उन्होंने समर्थन किया था जिस कारण से इस्लामिक देश में उनकी आलोचना होती रहती है। उन्होंने तो नीदरलैंड में कुरान पर पाबंदी लगाने और मस्जिदों को बंद करने तक की मांग कर दी है। ऐसे में अगर सत्ता उनके हाथ में जाती है तो पूरे यूरोप में इसका असर दिखाई देगा।

नूपुर का किया था समर्थन

अब जब विल्डर्स प्रधानमंत्री बनने की खबरों को लेकर सुर्खियां बटोर रहे हैं तो हर किसी को नूपुर शर्मा के समर्थन में दिया गया उनका बयान भी याद आ रहा है। बता दें कि पैगंबर मोहम्मद के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी करने के बाद जब नूपुर शर्मा की हर जगह आलोचना की जा रही थी। तब विल्डर्स ने इस्मालिक देशों के गुस्से को हास्यास्पद बता दिया था। उन्होंने सोशल मीडिया पर यह लिखा था कि “अलकायदा जैसे इस्लामी आतंकवादियों के सामने कभी नहीं झुकना चाहिए। वह बर्बरता का प्रतिनिधित्व करते हैं। पूरे भारत को नूपुर शर्मा के पक्ष में एक साथ आना चाहिए और उन्हें सपोर्ट करना चाहिए। अलकायदा और तालिबान ने मुझे सालों पहले अपनी हिट लिस्ट में डाल दिया था। आतंकियों के सामने कभी नहीं झुके, कभी भी नहीं।”


About Author
Diksha Bhanupriy

Diksha Bhanupriy

"पत्रकारिता का मुख्य काम है, लोकहित की महत्वपूर्ण जानकारी जुटाना और उस जानकारी को संदर्भ के साथ इस तरह रखना कि हम उसका इस्तेमाल मनुष्य की स्थिति सुधारने में कर सकें।” इसी उद्देश्य के साथ मैं पिछले 10 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रही हूं। मुझे डिजिटल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कॉन्टेंट राइटिंग करना जानती हूं। मेरे पसंदीदा विषय दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली समेत अन्य विषयों से संबंधित है।

Other Latest News