पीएम बनने की रेस में ऋषि सुनक ने पहले दौर में हासिल की जीत

उन्होंने देश की सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी से प्रधानमंत्री बनने के लिए 88 मतों के साथ मतदान के पहले दौर में जीत हासिल की।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। भारतीयों का रुतबा अब पूरी दुनिया में बढ़ रहा है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री आवास 10-डाउनिंग स्ट्रीट में पहुंचने की रेस में भारतवंशी राजनेता और ब्रिटेन के पूर्व वित्त मंत्री ऋषि सुनक आगे चल रहे हैं। उन्होंने देश की सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी से प्रधानमंत्री बनने के लिए 88 मतों के साथ मतदान के पहले दौर में जीत हासिल की, जबकि पूर्व रक्षा सचिव पेनी र्मोडट 67 मतों के साथ दूसरे स्थान पर रहीं वहीं तीसरे स्थान पर विदेश सचिव लिज ट्रस थीं, जिन्हें 50 वोट मिले।

सुनक के अलावा रेस में शामिल भारतीय मूल के अटॉर्नी जनरल सुएला फर्नांडीस ब्रेवरमैन 32 मतों से पराजित हुए। इस दौरान कुल 338 सांसद वोट देने के लिए लिए योग्य थे।

हाउस ऑफ कॉमन्स में सीधे चुने गए कंजर्वेटिव सांसदों को शामिल करने की प्रक्रिया से अगले सप्ताह तक पीएम की रेस केवल दो लोगों तक सीमित करने की उम्मीद है। इस बीच, बोरिस जॉनसन ने सोमवार को अपनी सरकार पर विश्वास प्रस्ताव पेश करके कामों में एक असाधारण शुरुआत की है।

ये भी पढ़े … सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ और मेरे, सबके साथ ऐसा हुआ है…, कोहली की फॉर्म को लेकर गांगुली का बड़ा बयान

यदि जॉनसन उस वोट को खो देते हैं, तो सिद्धांत रूप में मध्यावधि आम चुनाव हो सकता है, इस प्रकार उनके प्रतिस्थापन के लिए वर्तमान पीएम चुनने की प्रक्रिया को खारिज कर दिया जाएगा और यदि वह तकनीकी रूप से जीत जाते हैं, तो यह सवाल उठा सकता है कि क्या पिछले सप्ताह उनके द्वारा दिया गया इस्तीफा अभी भी वैध है क्या?

इस दौरान विपक्षी लेबर पार्टी ने जॉनसन के खिलाफ हाउस ऑफ कॉमन्स में एक प्रस्ताव पेश किया था ताकि उनकी कार्यवाहक भूमिका को कम किया जा सके।