श्रीलंका में महंगाई से बुरा हाल, जरुरत की चीजें खत्म होने की कगार पर

डब्ल्यूएफपी (WFP) ने यह साफ किया है कि श्रीलंका को अपनी जीवन रक्षक सहायता के लिए तत्काल 6.3 करोड़ डॉलर की आवश्यकता है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका में भुखमरी जैसे हालात हो गए है, जहां खाने पीने की चीजों के रेट आसमान छू रहे है वहीं दूसरी तरफ जरुरत की चीजे भी अब खत्म होने की कगार पर पहुंच गई है। इस बीच श्रीलंका के ऊर्जा मंत्री कंचना विजेसेकारा ने कहा है कि इस संकट की स्थिति में भारत ही एक ऐसा देश है जिसने हमारी कई बार मदद की है। विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) ने शुक्रवार को श्रीलंका की स्थिति पर अपनी रिपोर्ट में कहा कि देश की 63 लाख यानी 28 प्रतिशत आबादी खाद्य असुरक्षा का सामना कर रही है और यह आंकड़ा जल्द बढ़ने की उम्मीद है।

देश में खाना, दवाई और टॉयलेट पेपर तक खत्म होने वाले हैं। देश विदेशी मुद्रा भंडार (Forex reserve) में गिरावट के कारण जरुरी वस्तुओं का भी आयात नहीं कर पा रही है, जबकि इस स्थिति में लाने वाला राजपक्षे परिवार देश को छोड़कर जा चुका है।

उधर इस बीच फलों की कीमतों ने भी देश में आसमन छू लिया है। आइये आपको बताते है कितने महंगे हो गए है खाद्य पदार्थ –

सेब : 1500 से 1600 रुपये प्रति किलो
अमरुद : 600 रुपये प्रति किलो
आम : 600 रुपये प्रति किलो है
केला : 300 (1 दर्जन)
संतरा : 1500 रुपये प्रति किलो
नारियल : 150 रुपये प्रति किलो
स्ट्रॉबेरी : 775 रुपये प्रति किलो

ये भी पढ़े … MP नगरीय निकाय चुनाव रिजल्ट LIVE

उधर, अन्य खाद्य पदार्थों की बात करे तो –

काजू : 6000 रुपये किलो
कॉर्नफ्लेक्स : 500 रुपये
केचअप : 450 रुपये प्रति 300 ग्राम
न्यूट्रेला : 4500 रुपये किलो
काजू : 6 हजार रुपये किलो
बटर की कीमत : 1300 रुपये प्रति 100 ग्राम
चीज : 1500 रुपये प्रति 100 ग्राम हो चुका है

आपको बता दे, डब्ल्यूएफपी (WFP) ने यह साफ किया है कि श्रीलंका को अपनी जीवन रक्षक सहायता के लिए तत्काल 6.3 करोड़ डॉलर की आवश्यकता है।