पूर्व प्रधानमंत्री महेंद्र राजपक्षे के बाद अब श्रीलंकाई राष्ट्रपति ने छोड़ा देश, घोषणा के मुताबिक देंगे इस्तीफा

श्रीलंका के प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, राष्ट्रपति ने कहा है कि वो अपनी घोषणा के मुताबिक इस्तीफा दे देंगे।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। श्रीलंका में आर्थिक संकट के बीच जारी हिंसक विरोध प्रदर्शन के बीच अब श्रीलंकाई राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे भी भाग खड़े हुए है। जानकारी के मुताबिक, उन्होंने किसी पड़ोसी देश में ही शरण ले रखी है। इससे पहले प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति भवन पर कब्जा कर लिया था, जहां वह स्विमिंग पूल, जिम, आदि इस्तेमाल करते हुए नजर आए थे। देश में अपने खिलाफ उग्र विरोध प्रदर्शन को देखते हुए ही राष्ट्रपति गोटबाया ने देश छोड़ने का फैसला लिया है, लेकिन घोषणा के मुताबिक उनकी बुधवार को वापस आकर अपने पद से इस्तीफा देने की उम्मीद है।

श्रीलंका के प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, राष्ट्रपति ने कहा है कि वो अपनी घोषणा के मुताबिक इस्तीफा दे देंगे।

उधर, श्रीलंका के केंद्रीय बैंक गवर्नर नंदलाल वीरसिंघे ने उन तमाम अटकलों को खारिज कर दिया है, जिनमें कहा जा रहा था कि उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इस दौरान उन्होंने प्रदर्शनकारियों को चेतवानी देते हुए कहा कि अगर देश में राजनीतिक स्थिरता नहीं आई तो IMF से बेलआउट पैकेज मिलने में देरी हो सकती है।

ये भी पढ़े … विराट कोहली के चयन को लेकर पैदा हुई असमंजस की स्थिति, बोर्ड जल्द लेगा फैसला

इससे पहले आक्रोशित प्रदर्शनकारियों ने मौजूदा प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे पर भी दवाब बनाकर पद छोड़ने को मजबूर किया था, जहां उन्होंने पीएम के निजी निवास को घेरकर आग के हवाले कर दिया था। इसके बाद विक्रमसिंघे ने भी प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है।

प्रदर्शनकारी गोटबाया के इस्तीफे के बाद करेंगे राष्ट्रपति भवन खाली

उधर, प्रदर्शनकारियों ने ये आहान किया है कि वो गोटबाया के इस्तीफे से पहले राष्ट्रपति भवन खाली नहीं करेंगे। इस बीच प्रदर्शनकारियों को सोमवार सुबह राष्ट्रपति भवन की सफाई करते हुए देखा गया। इससे पहले उनकी भवन से मस्ती और गैरजिम्मेदार हरकतों की तस्वीरें सामने आ रही थीं।

इस दौरानउन्होंने कहा, “यह गंदगी हमने फैलाई थी, इसलिए इसे साफ करना भी हमारी जिम्मेदारी बनती है। यह एक सार्वजनिक क्षेत्र है। हम यहां व्यवस्था बदलने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।”