शादी के लिए कोर्स, फेल होने पर सरकार नहीं देगी विवाह की अनुमति

दिल्ली। हमारे यहां शादी को नसीब का लिखा माना जाता है, कहते हैं जोड़े ऊपर से बनकर आते हैं। शादी से पहले लड़के लड़की को उनके घरवाले कुछ गुर बताते हैं ताकि वैवाहिक जीवन खुशहाल चल सके। लेकिन इंडोनेशिया में शादी को लेकर इन दिनों कुछ अलग हालात है, यहां सरकार शादी से पहले एक कोर्स कराएगी और उसमें फेल होने पर शादी नहीं की जा सकेगी।

इंडोनेशिया सरकार के नए आदेश के मुताबिक शादी करने के इच्छुक लड़के और लड़की को एक कोर्स कराया जाएगा जिसमें दांपत्य जीवन, घर-परिवार की देखभाल और बच्चों की परवरिश की ट्रेनिंग दी जाएगी। कोर्स पूरा होने के बाद इनका एक टेस्ट लिया जाएगा और अगर कोई युवा इस टेस्ट में फेल हो गया तो उससे शादी करने का अधिकार छीन लिया जाएगा। ये कोर्स अगले साल यानी 2020 से शुरू होगा।

युवाओं को जिम्मेदार नागरिक, जीवनसाथी और जागरूक माता-पिता बनाने के उद्देश्य से सरकार की तरफ से कराया जानेवाला यह कोर्स पूरी तरह से फ्री होगा। तीन महीने के इस कोर्स में शादी के बाद आने वाले परिवर्तन, घर चलाने के लिए फाइनेंशियल मैनेजमेंट, आपसी समझ बनाना, बच्चों की परवरिश सहित कई बातें शामिल होंगी। इंडोनेशिया के मानव विकास मंत्रालय के अनुसार इस कोर्स के बाद सभी युवाओं को सर्टिफिकेट दिया जाएगा और सर्टिफिकेट प्राप्त करनेवाले युवाओं को ही शादी करने की अनुमति मिलेगी। इस तरह अब इंडोनेशिया के युवाओं को अपने करियर के अलावा शादी के लिए भी प्रॉपर पढ़ाई और एग्ज़ाम से गुज़रना होगा और इसमें पास होने पर ही वे शादी कर पाएंगे।