सुहागरात पर दूल्हे के दोस्त ने दुल्हन के साथ की अश्लीलता, 7 साल बाद मिला इंसाफ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। छेड़छाड़ के एक मामले में 7 साल बाद आरोपी को मामले में दोषी पाया गया है। ये घटना सिंगापुर (Singapore) की है जहां एक व्यक्ति ने अपने ही दोस्त की शादी के समय उसकी दुल्हन के साथ अश्लील हरकत (Molestation) की थी। पीड़िता की शादी 2016 में हुई थी। हालांकि ये फैसला आते आते पीड़िता का अपने पति से तलाक हो चुका था।

ये भी देखिये – Funny Video : परीक्षा में जवाब भूलें तो आप भी आजमाएं ये तरकीब, IAS ने शेयर किया मजेदार वीडियो

शादी (Marriage) के बाद दूल्हा-दुल्हन ने अपने ब्राइडल सुइट में एक पार्टी रखी थी। वहां आए गेस्ट ने जमकर शराब पी, जिनमें आरोपी भी शामिल था। पीड़िता ने बताया कि शादी और पार्टी के बाद थकान के कारण वो अपने रूम में सोने चली गई। कुछ समय बाद कमरे में कोई आया और उसके साथ छेड़खानी करने लगा। वो उसके ब्रेस्ट और प्राइवेट पार्ट को छू रहा था। अंधेरे पहले को युवती को लगा कि उसका पति आया है लेकिन थोड़े ही समय में वो समझ गई कि ये कोई और व्यक्ति है। उसने पूछा भी कि कौन है लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। उसने रोकना चाहा लेकिन वो व्यक्ति रूका नहीं और उसके साथ अभद्रता करता रहा। आखिर युवती कमरे से बाहर चली गई। बाहर आकर देखा तो उसक पति सुइट के लिविंग रूम में सो रहा था। उसने पति को जगाकर सारी बात बताई।

उस समय आरोपी ने दोनों के सामने छेड़छाड़ की बात कबूल की थी। पति ने अपने दोस्त को वहां से चले जाने के लिए कहा। लेकिन पत्नी ने घटना की शिकायत पुलिस में दर्ज करने का फैसला लिया। मामले के अदालत में पहुंचने पर आरोपी के वकील ने सफाई दी कि आरोपी को लगा था कि बिस्तर पर उसकी पत्नी है और ये एहसास होने पर कि वो उसकी पत्नी नहीं है, वो पीछे हट गया था। उसने ये भी कहा कि उसके द्वारा माफी मांग ली गई थी। लेकिन प्रिंसिपल डिस्ट्रिक्ट जज विक्टर यीओ ने आरोपी की दलीलों को खारिज कर दिया। उन्होने कहा कि ये बयान सजा से बचने का बहाना है। जज ने कहा कि किसी और महिला को अपनी पत्नी समझ लेना भरोसे लायक बात नहीं है। वहीं उन्होने पीड़िता के बयान को विश्वसनीय बताया। करीब सात साल की लंबी लड़ाई के बाद युवती को इंसाफ मिला है।