पाकिस्तान में बीमारी से हुई इतने लोगों की मौत, बढ़ी सरकार की चिंताएं

पाकिस्तान में इन दिनों तबाही का मंजर देखने को मिल रहा है। बता दें कि पिछले कई दिनों से पाकिस्तान के कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हैं। इसके साथ ही

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट | पाकिस्तान में इन दिनों तबाही का मंजर देखने को मिल रहा है। बता दें कि पिछले कई दिनों से पाकिस्तान के कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हैं। इसके साथ ही पाकिस्तान में की आर्थिक स्थिति भी पूरी तरह से खराब हो चुकी है। इसी बीच पाकिस्तान की चिंता बढ़ाने वाली ऐसी बीमारियों का खतरा बढ़ गया है जिससे अब तक कई लोगों की जान जा चुकी है।

यह भी पढ़ें –  पति ने पत्नी पर केरोसिन डालकर लगाई आग, गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

दरअसल, पाकिस्तान में बाढ़ के कारण अब तक 16 सौ से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, प्राकृतिक आपदा में अब तक कई लाख लोग बेघर हो चुके हैं। इसके साथ ही उनके मवेशी, घर, खेत, खलियान सब कुछ बर्बाद हो चुका है। लोगों को इतनी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही, बाढ़ से कई प्रकार के बीमारियों का खतरा भी बना हुआ है।

यह भी पढ़ें –  कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, वेतन विसंगति, पे रिवीजन और वेतन वृद्धि पर अपडेट, 28 सितंबर को कैबिनेट बैठक

बता दें कि लोगों को मलेरिया, टाइफाइड और डेंगू जैसे बीमारियों से जूझना पड़ रहा है। चूकीं सरकारी व्यवस्था कमजोर होने के कारण लोगों को उचित सेवाएं नहीं मिल पा रही है। बता दें कि लाखों लोगों के प्रभावित होने के कारण राहत और बचाव कार्य भी ढंग से नहीं हो पा रहा क्योंकि पाकिस्तान सरकार के पास अपने लोगों पर खर्च करने के लिए इतने रुपए नहीं है। साथ ही, व्यवस्थाओं की कमी है जिसके कारण पाकिस्तान की जनता सरकार से काफी नाराज है।

यह भी पढ़ें –  Navratri 2022: इस साल नवरात्रि पर बन रहे हैं 8 राजयोग, कलश स्थापना कल, जानें शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

प्राकृतिक आपदा से कोई बच नहीं सकता क्योंकि इससे अमूमन सभी को नुकसान होता है। यह धर्म, जात-पात, समुदाय, इत्यादि नहीं देखता यह जब भी आता है तो अपने साथ तबाही लेकर आता है। जिसमें लोग, पशु, पक्षी सब अपनी जान से हाथ धो बैठते हैं। प्राकृतिक आपदा बाढ़ के कारण नदी का जलस्तर अपनी सीमा लांग कर आसपास के क्षेत्रों में प्रवाह करने लगता है और जब नदी तबाही का रूप लेती है तब वह अपने सामने आने वाले किसी भी चीज पर रहम नहीं करती और तबाही मचाते हुए उसका अंत करती हुई आगे बढ़ जाती है। जिसके बाद लोगों को तरह-तरह की बीमारियां होने लगती है क्योंकि बाढ़ के दौरान नदी, नाले की गंदगी उस पानी में घुलकर बीमारियों को आमंत्रण देता है।  जिसका खामियाजा लोगों को लंबे समय तक भुगतना पड़ता है।

यह भी पढ़ें –  Beauty Tips : मात्र 10 रुपये में पाएं चेहरे पर चमक, जानिए कैसे