जले हुए आशियानों की 18 हजार चाबियों से बना दी अनूठी कलाकृति

121

कहते हैं किसी के घर लगी आग पर हाथ नहीं सेंकना चाहिए..लेकिन किसी के घर लगी आग की निशानी से उम्मीद की कोई लौ तो जलाई ही जा सकती है। कैलिफोर्निया के पैराडाइज की रहने वाली एक आर्ट थैरेपिस्ट ने कुछ ऐसी ही कोशिश की है।

 34 साल की आर्ट थैरेपिस्ट जेसी मरसर ने ऐसी 18 हजार चाबियों को इकट्ठा किया जो पिछले साल नवंबर में कैलिफोर्निया के जंगलों में फैली आग की चपेट में आए स्कूल, चर्च, घर, अपार्टमेंट, ऑफिसेस और कार की हैं। उन्होने इन चाबियों को दान करने की अपील की और लगभग 18 हज़ार चाबियां उनके पास इकट्ठी हो गईं। इन चाबियों ने जेसी ने एक पक्षी की मूर्ति बनाई है। जिन लोगों ने अपने खाक हो चुके मकान या अन्य स्थान की चाबी दान की थी, उन चाबियों को इस रूप में देखकर उनका कहना है कि ये मूर्ति उम्मीद का प्रतीक है जो ये संदेश देती है कि राख में तब्दील होने के बाद भी अगर उम्मीद जिंदा है तो कभी कुछ खत्म नहीं होता।

 पिछले साल नवंबर में कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी आग से 153000 एकड़ का इलाका जलकर राख हो गया था और इसमें 85 लोगों को अपनी जान भी गंवानी पड़ी थी। इस आग की चपेट में कई बस्तियां आई थी और ऐसी ही एक बस्ती में जेसी का घर और आर्ट स्टूडियो भी था। उस तकलीफ से उबरने के लिए ही उन्होने ये अनोखा रास्ता चुना और 362 किलो वजन वाली इस मूर्ति का निर्माण किया जिसमें उन्हें एक साल का वक्त लगा। अब लोग दूर दूर से इस अनूठी कलाकृति को देखने आ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here