जब 6.12 अरब किलोमीटर दूर से ली गई पृथ्वी की फोटो, देखकर नहीं होगा आपको भी यकीन

न्यू होराइंजस, प्लूटो और काइपर बेल्ट की जानकारी के लिए मिशन पर जाने वाला पहला यान वायजर -1 था।  इसके मुकाबले होराइंजस यान की दूरी काफी अधिक थी यह नासा के लिए एक बड़ी उपलब्धि है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी NASA ने हाल ही में Voyager-1 द्वारा 14 फरवरी 1990 ली गई पृथ्वी की फोटो को शेयर करते हुए New Horizons द्वारा बनाए गए रिकार्ड की जानकारी शेयर की। नासा द्वारा अंतरिक्ष में समय समय पर लगातार शोध होते रहते हैं। इसी प्रयास में न्यू होराइंजस यान ने 6.12 अरब किलोमीटर की दूरी से पृथ्वी की फोटो लेकर नया कीर्तिमान स्थापित किया है।

यह भी पढ़ें- MP News : लापरवाही पर बड़ा एक्शन, 22 कर्मचारी निलंबित, शिक्षक-BMO सहित कई को थमाया गया नोटिस

जब यान ने पृथ्वी के पेल ब्लू डाॅट की तस्वीर ली उस समय इसमे लगभग 60 चित्रों का समूह मौजूद था। बता दें कि इससे पहले 14 फरवरी 1990 को Voyager-1 यान द्वारा 6.6 अरब किलोमीटर की दूरी से पृथ्वी की फोटो ली थी। और तस्वीर लेने के कुछ समय बाद ही यान बंद हो गया था। उस तस्वीर में पृथ्वी एक छोटे से रेत के चमकदार कण जैसी प्रतीत हो रही थी।

यह भी पढ़ें- Mandi Bhav: 26 जून 2022 के Today’s Mandi Bhav के लिए पढ़े सबसे विश्वसनीय खबर

न्यू होराइंजस, प्लूटो और काइपर बेल्ट की जानकारी के लिए मिशन पर जाने वाला पहला यान वायजर -1 था।  इसके मुकाबले होराइंजस यान की दूरी काफी अधिक थी यह नासा के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। आपको बता दें कि न्यू होराइंजस अब तक का सबसे तेज गति वाला अंतरिक्ष यान है जो सौरमंडल में जानकारी के लिए प्रेषित किया गया है।
एलन स्टर्न ने कहा अब हम इस काबिल हो चुके है कि एक लंबी दूरी से भी पृथ्वी की तस्वीर ले सकते है। यह वाइजर-1 और न्यू होराइंजस के इस कमाल के रिकार्ड से सिद्ध हो चुका है।

यह भी पढ़ें- Voting again in Datia : हार के डर से कुएं में फेंकी थी मतदान पेटी अब दतिया के 2 गांवों में होगा दोबारा मतदान

आपको बता दें न्यू होराइंजस यान ने तारों के एक समूह जिसका नाम विशिंग वेल है इनकी तस्वीर भी ली थी उस समय इसकी पृथ्वी से दूरी 6.12 अरब किलोमीटर थी।