आँगनबाड़ी में नौकरी का सुनहरा मौका, 10,400 पदों पर निकली भर्ती, 30 नवंबर तक करें अप्लाई

Manisha Kumari Pandey
Published on -
Anganwadi recruitment

Anganwadi Recruitment 2023: महिला एवं बाल विकास विभाग गुजरात ने अंगनबाड़ी में भर्ती के लिए अधिसूचना जारी की है। इच्छुक उम्मीदवार 30 नवंबर तक आवेदन कर सकते हैं। अलग-अलग जिलों के लिए नोटिफिकेशन भी अलग से जारी किया गया है। चयनित कैंडीडेट्स की नियुक्ति वर्कर्स और हेल्पर के पद पर होगी। रिक्त पदों की संख्या कुल 10,400 है। 3421 पद आँगनबाड़ी वर्कर्स और 6979 पद आँगनबाड़ी हेल्पर के लिए रिक्त हैं।

योग्यता और आयु सीमा

10वीं पास उम्मीदवार आवेदन के पात्र हैं। निर्धारित आयु सीमा न्यूनतम 18 वर्ष है। 33 वर्ष से अधिक कैडिडेट्स को आवेदन की अनुमति नहीं होगी। सरकारी नियमों के तहत आरक्षित कैटेगरी के उम्मीदवारों को आयु में छूट मिलेगी। उम्मीदवारों का चयन टेस्ट/इंटरव्यू के आधार पर होगा। डॉक्यूमेन्ट वेरीफिकेशन के आधार पर मेरिट लिस्ट जारी किया जाएगा। अधिक जानकारी के आधिकारिक अधिसूचना जरूर देखें।

ऐसे करें आवेदन

  • सबसे पहले महिला एवं बाल विकास विभाग गुजरात के ऑफिशियल वेबसाइट e-hrms.gujarat.gov.in पर जाएं।
  • होमपेज पर “Recruitment” टैब पर क्लिक करें।
  • अब अपने क्षेत्र के लिए “Apply Online” के लिंक पर क्लिक करें। रजिस्ट्रेशन करें।
  • रजिस्ट्रेशन नंबर और पासवर्ड दर्ज करके लॉग इन करें।
  • एप्लीकेशन फॉर्म को अच्छे से भरें।
  • फोटो और जरूरी दस्तावेज अपलोड करें।
  • आवेदन शुल्क का भुगतान करें और फॉर्म को सबमिट करें।
  • अंत में आवेदन पत्र को डाउनलोड करके रख लें।

About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News