Sarkari Naukari: पंचायती राज विभाग में निकली बंपर भर्ती, 4821 पद रिक्त, 12वीं पास करें आवेदन, 30 जून है अंतिम तिथि 

यूपी पंचायती राज विभाग में सहायक पदों पर भर्ती निकली है। आवेदन प्रक्रिया 15 जून 2024 से शुरू होने वाली है। योग्य और इच्छुक उम्मीदवार 30 जून 2024 तक आवेदन कर सकते हैं

Manisha Kumari Pandey
Published on -
sarkari naukari

Sarkari Naukari 2024: सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे उम्मीदवारों के लिए अच्छी खबर सामने आई है। उत्तर प्रदेश पंचायती राज विभाग में सहायक अथवा अकाउंटेंट-कम-डाटा एंट्री ऑपरेटर के पद पर बंपर भर्ती (Panchayati Raj Recruitment 2024) निकली है। रिक्त पदों की संख्या कुल 4821 है। आवेदन प्रक्रिया 15 जून 2024 से शुरू होने वाली है। योग्य और इच्छुक उम्मीदवार 30 जून 2024 तक आवेदन कर सकते हैं। कैंडिडेट्स को अधिसूचना पढ़ने के बाद ही आवेदन करने की सलाह दी जाती है।

योग्यता और आयु सीमा

सहायक पद पर आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों का किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान या बोर्ड से 12वीं पास होना अनिवार्य है। निर्धारित आयु सीमा न्यूनतम 18 वर्ष और अधिकतम 40 वर्ष है। हालांकि सरकारी नियमों के तहत आयु सीमा में छूट प्रदान की जाएगी।  इसके अलावा का सामान ग्राम पंचायत का निवासी ही आवेदन कर सकता है।

चयन प्रक्रिया

उम्मीदवारों का चयन मेरिट लिस्ट के आधार पर किया जाएगा, जो हाई स्कूल और 12वीं में प्राप्त अंकों के आधार पर तैयार की जाएगी। यदि किसी उम्मीदवार की शैक्षणिक योग्यता बराबर होती है, तो जिस भी उम्मीदवार की उम्र अधिक होगी उसे अवसर प्रदान किया जाएगा। यदि उम्मीदवार की शैक्षणिक योग्यता और आयु सीमा दोनों ही एक होती है तो जिस भी कैंडिडेट ने पहले आवेदन किया है उसे अवसर मिलेगा।

भर्ती से संबंधित महत्वपूर्ण तारीख 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News