कर्मचारी चयन आयोग ने निकाली 26,146 पदों पर भर्ती, अधिसूचना जारी, 31 दिसंबर तक करें आवेदन, जान लें पात्रता और नियम

ssc recruitment

SSC Recruitment 2023: 10वीं पास उम्मीदवारों के लिए कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission)  ने बम्पर भर्ती निकाली है। एसएस जीडी कॉन्स्टेबल पदों पर भर्ती के लिए अधिसूचना जारी हो चुकी है। आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर निर्धारित की गई है। इस भर्ती अभियान के तहत बीएसएफ, सीआरपीएफ, एसएसबी, आईटीबीपी, एआर, सीआईएसएफ, एसएसएफ, NIA इत्यादि पुलिस बल चयनित उम्मीदवारों की नियुक्ति की जाएगी। कुल रिक्त पदों की संख्या 26 हजार 146 है हैं। महिलाओं के लिए 2799 और पुरुषों के लिए 23347 पद रिक्त हैं।

महत्वपूर्ण तिथियाँ 

एसएससी जीडी कॉन्स्टेबल पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 31 दिसंबर तक ही आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। 4 जनवरी से 6 जनवरी तक करेक्शन विंडो खुला रहेगा। 20, 21, 22, 23, 24, 26, 27, 28, 29 फरवरी 2024 और 1, 5, 6, 7, 11 और 12 मार्च को परीक्षा का आयोजन देश के विभिन्न शहरों में होगा।

पात्रता और चयन प्रक्रिया

किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय और संस्थान से 10वीं पास उम्मीदवार आवेदन कर सकते हैं। निर्धारित आयु सीमा न्यूनतम 18 वर्ष और अधिकतम 25 वर्ष है। इसके अलावा फिजिकल स्टैंडर्ड्स को होना भी जरूरी होगा। उम्मीदवारों का चयन लिखित परीक्षा (CBT Mode), पीईटी, पीएसटि, मेडिकल टेस्ट और डॉक्यूमेंट वेरीफिकेशन के आधार पर होगा।

आवेदन प्रक्रिया

इच्छुक उम्मीदवार ऑफिशियल वेबसाइट ssc.nic.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए मोबाईल नंबर, ईमेल आईडी, फोटो आईडी प्रूफ, 10वीं पास रोल नंबर, सर्टिफिकेट इत्यादि की जरूरत पड़ेगी। एससी एसटी, एक्स-सर्विसमैन और महिला उम्मीदवारों को किसी प्रकार के आवेदन शुल्क का भुगतान नहीं करना होगा। वहीं अन्य के लिए एप्लीकेशन फीस 100 रुपये हैं। अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक अधिसूचना देखने की सलाह दी जाती है। (Official Notification Link)

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News