Teachers Recruitment : उम्मीदवारों के लिए DPI ने जारी किया आदेश, नियुक्ति संबंध में नवीन सूचना जारी, 18 हजार से अधिक पदों पर होनी है भर्ती

मध्य प्रदेश शिक्षक वर्ग 1 और वर्ग 2 भर्ती परीक्षा में नियोजन के संबंध में सूचना जारी की गई है।

mp teacher promotion pay scale

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में शिक्षक भर्ती (Teachers Recruitment) की प्रक्रिया आयोजित की जा रही है। उच्च माध्यमिक और माध्यमिक शिक्षकों की भर्ती के लिए दूसरे सत्र के काउंसलिंग (counseling) की प्रक्रिया शुरू हो गई है। 2018 शिक्षक पात्रता परीक्षा पास करने वाले अभ्यर्थियों को दूसरे चरण के काउंसलिंग में लाभ मिलेगा। वहीं लोक शिक्षण संचालनालय (DPI) द्वारा अब एक नवीन आदेश जारी किए गए। जिसमें मध्य प्रदेश शिक्षक वर्ग 1 और वर्ग 2 भर्ती परीक्षा में नियोजन के संबंध में सूचना जारी की गई है।

लोक शिक्षण संचालनालय की ओर से जारी परिपत्र में कहा गया है कि उच्च माध्यमिक शिक्षकों एवं माध्यमिक शिक्षकों के लिए भर्ती नोटिफिकेशन 29 सितंबर को जारी किया गया था।नवीन आदेश में लोक शिक्षण संचालनालय ने कहा है कि पात्रता धारक अभ्यर्थियों को एक बार फिर से सूचित किया जाता है कि एमपी ऑनलाइन पोर्टल पर उच्च माध्यमिक शिक्षक के लिए 10 अक्टूबर तक अनिवार्य दस्तावेज अपलोड करने की पात्रता होगी।जबकि माध्यमिक शिक्षक अभ्यर्थी 6 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक रजिस्ट्रेशन कर दस्तावेज अपलोड कर सकेंगे।

Read More : Nobel Prize 2022 : भौतिकी में नोबेल पुरस्कार का ऐलान, इन तीन वैज्ञानिकों को मिलेगा सम्मान

डीपीआई के आदेश में साफ कहा गया है कि जिन अभ्यर्थियों द्वारा प्रोफाइल रजिस्ट्रेशन कर दस्तावेजों को अपलोड नहीं किया जाएगा, उन्हें किसी भी शिक्षक चयन प्रक्रिया में शामिल नहीं किया जाएगा। इसके अलावा 30 दिसंबर 2019 के विज्ञापन के आधार पर ऐसे अभ्यर्थी, जिनके दस्तावेज अपलोड कर सत्यापन कराए जा चुके थे लेकिन मेरिट लिस्ट में उन्हें नियुक्ति नहीं मिली थी। उन अभ्यर्थियों को भी एक बार फिर से दस्तावेज अपलोड करना अनिवार्य किया गया है।

बता दे कि 2018 में मध्य प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन किया गया था। शिक्षक भर्ती के लिए अगस्त और अक्टूबर 2019 में परीक्षा परिणाम घोषित किए गए। जिसमें 40000 शिक्षकों की नियुक्ति होनी थी। हालांकि 30000 पद स्वीकृत किए गए थे। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा 20500 पद ही स्वीकृत हुई। जनजाति कार्य विभाग द्वारा 9000 पदों पर भर्ती की प्रक्रिया शुरू की गई थी। 4 साल होने के बाद भी अब तक यह भर्ती पूरी नहीं हो पाई है। वहीं प्रदेश में 60000 शिक्षक पद अभी रिक्त हैं।