UPSC Recruitment: यूपीएससी ने निकाली 167 पदों पर भर्ती, 26 सितंबर तक करें आवेदन, जानें नियम

APSC Recruitment:

UPSC Recruitment: यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन ने इंजीनियरिंग सर्विस एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिए हैं। कुल 167 पदों पर भर्ती होने वाली है। इच्छुक उम्मीदवार 26 सितंबर तक ऑनलाइन ऑफिशियल वेबसाइट upsc.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। सिविल, इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स और टेली कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग के पद पर नियुक्ति होगी।

पात्रता और नियम

इंजीनियरिंग सर्विस परीक्षा (प्रारम्भिक) का आयोजन 18 फरवरी 2024 को होने वाला है। जिन भी कैंडीडेट्स को इंजीनियरिंग या इक्वीवेलेंट योग्यता की डिग्री प्राप्त है, वे आवेदन कर सकते हैं। एप्लीकेशन के लिए अभ्यर्थियों की निर्धारित आयु सीमा न्यूनतम 21 वर्ष और अधिकतम 30 वर्ष है। केवल भारतीय उम्मीदवार ही भर्ती के लिए अप्लाइ कर सकते हैं। पात्रता और परीक्षा से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए आधिकारिक अधिसूचना (Official Notification देखने के लिए यहाँ क्लिक करें ) जरूर देखें।

आवेदन

आवेदन करने के लिए जनरल/ओबीसी/ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के अभ्यर्थियों को 1000 रुपये एप्पलीकेशन फीस का भुगतान करना होगा। वहीं एससी/एसटी/पीडब्ल्यूबीडी कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए आवेदन शुल्क 250 रुपये है। नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो कर आप आवेदन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले यूपीएससी के ऑफिशियल वेबसाइट upsc.gov.in पर जाएं।
  • अब “Examination Notification” के टैब पर क्लिक करें।
  • “Engineering Services Exam” के लिए “Apply” पर क्लिक करें।
  • “न्यू रजिस्ट्रेशन” के विकल्प को चुनें।
  • रजिस्ट्रेशन फॉर्म में सारी जानकारी सही-सही भरें और सबमिट करें।
  • इसके बाद रजिस्ट्रेशन आइडी और पासवर्ड के जरिए लॉग इन करें और आवेदन पत्र भरें।
  • जरूर दस्तावेजों को जमा करें।
  • आवेदन शुल्क का भुगतान करें और फॉर्म जमा करें।

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News