नए साल में कर्मचारियों को मिलेगा बड़ा तोहफा, खाते में आएंगे 2 लाख रुपए, एकमुश्त भेजी जा सकती है राशि

केंद्र कर्मचारियों, पेंशनभोगियों को मुद्रास्फीति या मूल्य स्तर में सामान्य वृद्धि के लिए मुआवजा देने के लिए वर्ष में दो बार DA और DR प्रदान करता है।

7th pay commission DA Arrears

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट केंद्र सरकार (Modi government) के 7th Pay commission कर्मचारियों के लिए यह साल खुशखबरी का रहा। उन्हें वेतन वृद्धि (increment), डीए वृद्धि (DA Hike) और डीआर (DR) में वृद्धि भी मिली है। हालांकि, नया साल मौजूदा साल से कम नहीं होगा। वहीँ नए साल में एकबार फिर कर्मचारियों के खाते में बड़ी राषि भेजी जाएगी। नवीनतम अपडेट के अनुसार, केंद्र सरकार जनवरी 2022 में उनका पिछले 18 महीनों से लंबित महंगाई भत्ता (डीए) बकाया जारी करने की योजना बना रही है।

गणना के अनुसार कर्मचारियों को नए साल में 2,18,200 रुपये से अधिक डीए एरियर के रूप में मिलेगा। विभिन्न मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल अपनी अगली बैठक में इस मामले को चर्चा के लिए उठाने के लिए पूरी तरह तैयार है। केंद्र सरकार ने इस साल अक्टूबर में डीए और डीआर को 17 फीसदी से बढ़ाकर 31 फीसदी कर दिया था।

कोरोना महामारी की वजह से मई 2020 में DA वृद्धि को रोक दिया गया था। हालाँकि, केंद्र ने 30 जून, 2021 को 17% DA से DA बढ़ाना शुरू कर दिया था। उस समय 18 महीने के बकाया राशि पर कोई निर्णय नहीं लिया गया था।

Read More : बीजेपी विधायक का कांग्रेस से सवाल” क्या विधायक जी का भी गंगाजल स्नान होगा?”

हालांकि बावजूद इसके 18 महीने के लंबित DA Arrears पर फैसला नहीं लिया गया है। अब तक उनका बकाया नहीं मिल पाया है। रिपोर्टों में आगे दावा किया गया है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 18 महीने के लिए रोक दिया गया डीए बकाया के लिए एकमुश्त निपटान राशि देने का प्रस्ताव रखा है।

हालांकि कर्मचारियों का डीए भुगतान की मांग लंबे समय से की जा रही है। जिसके लिए कर्मचारियों ने प्रधानमंत्री मोदी तक भी अपनी बात पहुंचा दी है। 3% डीए में बढ़ोतरी के बाद केंद्र सरकार के कर्मचारियों को बकाया महंगाई भत्ता देने से मना कर दिया गया था। जिसके बाद कर्मचारियों ने पीएम को पत्र लिखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस मामले में व्यक्तिगत रूप से निर्णय लेने की बात कही थी।

माना जा रहा था कि अक्टूबर महीने में कर्मचारियों के 18 महीने के लिए एरियर के भुगतान पर बड़ा फैसला लिया जा सकता है। हालांकि एक बार फिर से मामला टलता गया और अधर में लटक गया था। इसी बीच अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक कर्मचारी और पेंशनरों के लिए बड़ा फैसला ले सकते हैं। जहां उनके पिछले 18 महीने के लंबित महंगाई भत्ते की एकमुश्त की राशि का भुगतान किया जा सकता है।

इसके अलावा नए साल में 3 प्रतिशत महंगाई भत्ते में वृद्धि संभव है। महंगाई भत्ते में 3% की वृद्धि के बाद कुल डीए 34% और मूल वेतन 18,000 रुपये पर कुल महंगाई भत्ता 73,440 रूपए का होगा। हालांकि सैलरी में सालाना 6,480 रुपये की बढ़ोतरी होगी. नीचे देखें कैलकुलेशन

Minimum Basic Salary पर कैलकुलेशन

  • कर्मचारी का मूल वेतन 18,000
  • नया महंगाई भत्ता (34%) रु 6120/माह
  • अब तक का महंगाई भत्ता (31%) 5580 रुपये/माह
  • कितना बढ़ा महंगाई भत्ता 6120- 5580 = 540 रुपये/माह
  • वार्षिक वेतन में वृद्धि 540X12 = रु 6,480

रिपोर्ट्स के मुताबिक, लेवल-1 के कर्मचारियों के लिए 18 महीने के डीए बकाया राशि 37,554 रुपये तक हो सकती है, जबकि लेवल-13 के कर्मचारियों के लिए यह बकाया राशि 2,18,200 रुपये तक हो सकती है।