त्योहार से पहले राज्य कर्मचारियों को मिला बड़ा तोहफा, अक्टूबर में होगा एकमुश्त DA का भुगतान

i july 2021

पटना, डेस्क रिपोर्ट। त्योहारी सीजन से पहले (7th pay commission) राज्य कर्मचारियों के लिए एक अच्छी खबर है। वित्त विभाग (finance department) द्वारा तैयार किए जा रहे प्रस्ताव को देखने के बाद, राज्य मंत्रिमंडल महंगाई भत्ते में वृद्धि के लिए अपनी मंजूरी दे दी है। रिपोर्ट के अनुसार, बिहार सरकार द्वारा 1 जुलाई, 2021 से डीए में बढ़ोतरी की जा चुकी है। october में राज्य के कर्मचारियों को 28 प्रतिशत के बढ़े हुए DA का उपहार मिलेगा। DA के साथ, जुलाई माह का एरियर (arrears) भी राज्य कर्मचारियों को दिया जाएगा।

दरअसल बिहार के सरकारी कर्मचारी और पेंशनरों को सरकार ने एकमुश्त बकाया एरियर भुगतान करने का निर्णय लिया है। कर्मचारियों को जुलाई और अगस्त महीने के वेतन के साथ बकाया DA-DR का भी भुगतान किया जाएगा। कैबिनेट की बैठक में यह बड़ा फैसला लिया गया है। बता दे कि छठे वेतनमान (6th pay commision) प्राप्त करें कर्मचारियों को जुलाई 2021 के बाद 164 की जगह 189 फीसद महंगाई भत्ता बढ़ाया गया है। इसके अलावा पांचवें वेतनमान (5th pay comission) की श्रेणी में आने वाली सरकारी कर्मचारी को जुलाई 2021 से 312 की जगह 356 फीसद महंगाई भत्ता का लाभ दिया जाएगा।

इतना ही नहीं इसके अलावा राज्य कर्मचारियों को अगले साल से 39 दिन का अवकाश भी मिल सकेगा। इसके लिए भी कैबिनेट की बैठक में फैसला लिया जा चुका है। बता दें कि अब कर्मचारियों को 15 छुट्टियां दी जाएगी जिसमें तीन रविवार भी शामिल रहेंगे वही एनआईए एक्ट के तहत भी कर्मचारियों को 21 छुट्टी मिलेगी जिसमें 6 रविवार को शामिल किया गया है। साथ एक्स इक्वल प्रतिबंधित अवकाश 20 दिनों का होगा। जिसमें से किसी 3 का उपयोग सरकारी कर्मचारी कर सकेंगे।

Read More: उपचुनाव से पहले सौगातों का सिलसिला, CM Shivraj आज इन जिलों को देंगे 119 करोड़ से अधिक का लाभ

गौरतलब है कि नीतीश कुमार सरकार ने इससे पहले अक्टूबर 2019 में सरकारी कर्मचारियों का डीए बढ़ाया था। तब राज्य सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 5 फीसदी की बढ़ोतरी की थी। उस समय महंगाई भत्ता 12 प्रतिशत से बढ़ाकर 17 प्रतिशत किया गया था।

केंद्र सरकार ने पिछले महीने सरकारी कर्मचारियों के डीए में 28 फीसदी की बढ़ोतरी की घोषणा की थी। सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कैबिनेट बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि DA और DR में वृद्धि ने सरकारी खजाने पर 34,401 करोड़ रुपये का अतिरिक्त वार्षिक बोझ डाला।

कोरोना महामारी के मद्देनजर, केंद्र सरकार ने डीए और डीआर की तीन अतिरिक्त किस्तों को फ्रीज कर दिया था, जो 1 जनवरी, 2020, 1 जुलाई, 2020 और 1 जनवरी, 2021 से देय थे। ठाकुर ने कहा, था इस कदम से लगभग 48.34 लाख केंद्रीय कर्मचारी और 65.26 लाख पेंशनभोगी को लाभ होगा।

एक विज्ञप्ति में कहा गया था कि सरकार ने 1 जुलाई, 2021 से केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को डीए बढ़ाने का फैसला किया है, जो मूल वेतन / पेंशन के मौजूदा 17 प्रतिशत की दर से 11 प्रतिशत की वृद्धि का ऐलान करता है।