Gandhi Jayanti 2022 : गांधी जयंती पर बापू के अनमोल वचनों से दें शुभकामनाएं, यहां देखें लिस्ट

कल 2 अक्टूबर है और 2 अक्टूबर के दिन देशभर में गांधी जयंती (Gandhi Jayanti) मनाई जाती है। दरअसल, गांधी जी ने सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलकर भारत को स्वतंत्रता दिलाने में योगदान किया था।

Gandhi Jayanti

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कल 2 अक्टूबर है और 2 अक्टूबर के दिन देशभर में गांधी जयंती (Gandhi Jayanti) मनाई जाती है। दरअसल, गांधी जी ने सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलकर भारत को स्वतंत्रता दिलाने में योगदान किया था। जैसा कि आप सभी जानते होंगे महात्मा गांधी ने देश को आजाद करवाने के लिए कई सविनय अवज्ञा आंदोलन, असहयोग आंदोलन, विदेशी वस्तुओं के बहिष्कार जैसे कई आंदोलन किए। इन आंदोलन की वजह से गांधीजी ने अंग्रेजो की नाक में दम कर के रख दिया था।

Must Read : छोटी सी कहानी से Amitabh Bachchan ने सिखाई बड़ी बात, वायरल हुआ वीडियो

आपको बता दें, महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। आजादी के बाद से ही 2 अक्टूबर के दिन गांधी जयंती मनाई जाती आ रही है। वहीं कल भी देशभर में गांधी जयंती मनाई जाएगी। ऐसे में सभी को शुभकामनाएं भेजने के लिए आज हम आपको कुछ ऐसे अनमोल विचार गांधीजी के बताने जा रहे हैं, जिन्हें आप शुभकामनाओं के तौर पर शेयर कर सकते हैं, तो चलिए जानते हैं उन विचारों के बारे में –

ये है वो अनमोल विचार-

  • प्रेम की शक्ति दंड की शक्ति से हजार गुनी प्रभावशाली और स्थायी होती है।
  • आजादी का कोई अर्थ नहीं है यदि इसमें गलतियां करने की आजादी शामिल न हों।
  • ऐसे जिएं कि जैसे आपको कल मरना है और सीखें ऐसे जैसे आपको हमेशा जीवित रहना है।
  • स्वयं को जानने का सर्वश्रेष्ठ तरीका है खुद को औरों की सेवा में लगा देना।
  • क्रूरता का उत्तर क्रूरता से देने का अर्थ अपने नैतिक व बौद्धिक पतन को स्वीकार करना है।
  • काम की अधिकता नहीं, अनियमितता आदमी को मार डालती है।
  • व्यक्ति अपने विचारों के सिवाय कुछ नहीं है। वह जो सोचता है, वह बन जाता है।
  • आंख के बदले आंख पूरे विश्व को अंधा बना देगी।
  • पाप से घृणा करो पर पापी से नहीं, क्षमादान बहुत मूल्यवान चीज है।
  • निःशस्त्र अहिंसा की शक्ति किसी भी परिस्थिति में सशस्त्र शक्ति से सर्वश्रेष्ठ होगी।