क्या आप भी गर्मियों में कर रहे गुड़ का सेवन तो अभी जान ले इससे होने वाले जोखिम

हर मौसम का एक स्वस्थ्य डाइट होता है, जो आपके इम्युनिटी को मजबूत करने में मदद करता है। इसलिए मौसम बदलते ही सबसे पहले डाइट बदल लें। गर्मी के मौसम में तरबूज, खीरा, ककड़ी जैसे पानी वाली फल और सब्जियों का उपयोग शुरू कर देना चाहिए

जीवनशैली, डेस्क रिपोर्ट। गर्मी का मौसम शुरू होते ही अपना ख्याल रखना जरुरी हो जाता है, क्योंकि इस समय डिहाइड्रेशन की बहुत अधिक समस्या आती है। इस मौसम में ऐसे कई फ़ूड होते हैं जिन्हे समय से छोड़ देना ही उचित होता है। जी हाँ! आयुर्वेद के अनुसार कुछ आहार को छोड़ने की सलाह दी गयी है। उसमे एक है गुड़। आइये जानते हैं इसके बारे में।

यह भी पढ़ें – SBI यूजर हो जाएं सावधान! Yono SMS लिंक के जरिए धड़ल्ले से हो रहा है स्कैम

हर मौसम का एक स्वस्थ्य डाइट होता है, जो आपके इम्युनिटी को मजबूत करने में मदद करता है। इसलिए मौसम बदलते ही सबसे पहले डाइट बदल लें। गर्मी के मौसम में तरबूज, खीरा, ककड़ी जैसे पानी वाली फल और सब्जियों का उपयोग शुरू कर देना चाहिए, और जो आपके शरीर के तासीर और गर्मी को बढ़ाये उन्हें छोड़ देना चाहिए। अब तक आपने गुड़ के फायदे ही गूगल पर सर्च किये हैं, आइये हम आपको बताते हैं गुड़ के हानि के बारे में।

यह भी पढ़ें – Google docs के नए अपडेट से मिलेगा ऑफिस वर्क में मदद, जानिए क्या है लेटेस्ट अपडेट

आयुर्वेद के अनुसार गुड़ को ठण्ड में खाना चाहिए क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है और यह शरीर को गर्म रखने में मदद करती है। गर्मियों में यदि आप गुड़ का सेवन करते हैं तो डॉ. से परामर्श अवश्य ले लें। गर्मी में गुड़ खाने से यह आपकी गर्मी बढ़ा देता है, जिससे आपके नाक से खून आ सकता है, पाचन की समस्या हो सकती है। शरीर में सूजन या फिर पेट में जलन हो सकता है।

इसीलिए गर्मियों में गठिया (arthritis) पीड़ितों को गुड़ से परहेज रखना जरूरी है। वहीं गुड़ (jaggery) में अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। ऐसे में मोटापे की समस्या से ग्रसित लोगों को इसके सेवन से दूर रहने की सलाह है। खासकर तुरंत के बने ताजे गुड़ को खाने से कब्ज, अपच और गैस जैसी परेशानियां हो सकती हैं। कुछ सामान्य समस्या जोकि गुड़ की वजह से हो सकता है:

यह भी पढ़ें – Mandi bhav: 8 अप्रैल 2022 के Today’s Mandi Bhav के लिए पढ़े सबसे विश्वसनीय खबर

वजन बढ़ता है
गुड़ में कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी की मात्रा भरपूर होती है जो कि आपको मोटापे की समस्या से ग्रसित करता है। बढ़ता वजन कई स्वास्थ्य समस्याओं को लेकर आता है।

शरीर मे ब्लड शुगर लेवल की मात्रा बढ़ सकती है
डायबिटीज के मरीजों के लिए गुड़ का सेवन नुकसानदेह हो सकता है, क्योंकि गुड में ग्लाइसेमिक होता है जोकि शरीर में ब्लड शुगर लेवल को तेजी से बढ़ाता है।

यह भी पढ़ें – MP TET पेपर लीक मामला: व्हिसल ब्‍लोअर डॉ. आनंद राय दिल्‍ली से गिरफ्तार

जलन और सूजन
गुड़ में सुक्रोज की मात्रा अधिक होती है, जो शरीर में ओमेगा 3 फैटी एसिड के बनने की क्षमता को प्रभावित करता है। इसकी वजह से आपको शरीर में जलन और सूजन हो सकता है। यही कारण है कि गठिया मरीजों को गुड़ के सेवन नहीं करने दिया जाता।

डाइजेशन समस्याएं
आयुर्वेद के अनुसार अधिक गुड़ खाने से कब्ज, अपच और गैस जैसी समस्याएं हो सकती है। साथ ही यह पेट में संक्रमण का कारक भी बनता है। संक्रम के प्रभाव से आपको उल्टी, चक्कर, खांसी, खुजली सिर दर्द जैसी समस्याएं हो सकती है।

नोट – यह लेख केवल जानकारी माध्यम के लिए है। किसी भी प्रकार से गुड़ का सेवन से पहले डॉ. की परामर्श जरूर लेवें।