क्या आप भी रोजाना सोते हैं पेट के बल तो जरूर पढ़ें यह खबर

पेट के बल सोने से आपके गर्दन में दर्द हो सकता है, क्योंकि पेट के बल सोने से शरीर का सिर और स्पाइन सीधी मुद्रा में ना होकर हल्का तिरछी मुद्रा में होता है।

जीवनशैली, डेस्क रिपोर्ट। किसी भी प्रकार से अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पर्याप्त नींद बहुत जरूरी है। इससे ना केवल शरीर स्वस्थ रहता है बल्कि अच्छी नींद से मानसिक तनाव भी कम होता है। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए केवल पर्याप्त नींद नहीं सही पोजीशन भी जरूरी है। क्योंकि अक्सर देखा गया है कि काम से थक हार कर व्यक्ति जब सोने की कोशिश करता है तो इस दौरान वह किसी भी पोजीशन में सो जाता है जिससे तुरंत नींद आ जाती है। जिनमें ज्यादातर लोग पेट के बल सोने की कोशिश करते हैं। क्या आप भी उनमें से हैं जो पेट के बल सोते हैं तो यह खबर आपके लिए ही है दरअसल यह पोजीशन गलत है:

यह भी पढ़ें – गर्मियों के दिनों में प्याज खाना क्यों बताया गया है जरूरी, जाने असली वजह

  • पेट के बल सोने से आपके गर्दन में दर्द हो सकता है, क्योंकि पेट के बल सोने से शरीर का सिर और स्पाइन सीधी मुद्रा में ना होकर हल्का तिरछी मुद्रा में होता है। जिसकी वजह से गर्दन दर्द की शिकायत हो जाती है। वहीं कुछ व्यक्तियों को पूरे शरीर में दर्द अनुभव होता है।
  • पेट के बल सोने से स्पाइन पर भी फर्क पड़ता है। दरअसल इस पोजीशन पर स्पाइनल पर खिंचाव अधिक होता है जिसके कारण कमर में दर्द की परेशानी हो जाती है। पेट के बल सोने से आपके शरीर का सारा बल बॉडी के बीच के हिस्से पर पड़ता है जिसके कारण स्पाइन अपनी पोजीशन नहीं बना पाता है और खिंचाव की समस्या बन जाती है।

यह भी पढ़ें – Morena News: ट्रक ने लोडिंग गाड़ी में मारी टक्कर, करीब 1 दर्जन से अधिक लोग हुए घायल

  • पेट के बल सोने से गर्दन स्पाइन के साथ-साथ पीठ पर भी प्रभाव पड़ता है, जिसकी वजह से आपको पूरी नींद नहीं हो पाती है साथ ही अगले दिन भी थकान बनी रहती है। पेट के बल सोने से सिर दर्द, शरीर के हिस्सों में दर्द और पाचन शक्ति में असर पड़ता है। इसलिए आज ही आ आदत छोड़ दें।