Homemade Fertilizer: गेंदे के पौधें में फूल खिलना हो गए हैं बंद, बनाएं घर पर इस छिलके से केमिकल फ्री फ़र्टिलाइज़र

Homemade Fertilizer: गेंदे के पौधे, अपने चमकीले रंगों और सुगंध के लिए जाने जाते हैं, घरों और बगीचों को सजाने के लिए लोकप्रिय हैं। इनकी देखभाल अपेक्षाकृत आसान होती है, लेकिन यदि आप इनकी वृद्धि और खिलने को बढ़ावा देना चाहते हैं, तो आप घरेलू खाद का उपयोग कर सकते हैं, जैसे कि केले के छिलके से बनी खाद।

भावना चौबे
Published on -
grdenihn tips

Homemade Fertilizer: आपके घर का बगीचा या बालकनी गेंदे के चमकीले रंगों और मनमोहक सुगंध से सराबोर है, जो न केवल वातावरण को खुशनुमा बनाते हैं बल्कि सकारात्मक ऊर्जा का भी संचार करते हैं। हर कोई चाहता है कि ये चमकीले फूल साल भर खिलते रहें, लेकिन कई बार देखभाल में चूक जाने से ये पौधे मुरझाने लगते हैं। ऐसे में घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आपके किचन में ही इन गेंदे के पौधों को फिर से हरा-भरा और खिलने-फूलने में मदद करने का एक जादुई इलाज मौजूद है – केले के छिलके। जी हां, आपने बिल्कुल सही पढ़ा! जिन्हें हम अक्सर फेंक देते हैं, वे केले के छिलके आपके गेंदे के पौधों के लिए किसी खजाने से कम नहीं हैं। ये छिलके प्राकृतिक रूप से खाद का काम करते हैं, जो पौधों को पोषक तत्व प्रदान कर उनकी वृद्धि और खिलने को बढ़ावा देता है, तो आइए, थोड़ा गहराई से जानते हैं कि कैसे केले के छिलके गेंदे के पौधों के लिए वरदान साबित हो सकते हैं।

बनाएं घर पर केमिकल फ्री फ़र्टिलाइज़र

केले के छिलके का जादू

क्या आप जानते हैं कि आपके रसोई के कचरे में गेंदे के पौधों के लिए एक खजाना छिपा हो सकता है? हाँ, आपने सही सुना! केले के छिलके, जिन्हें हम अक्सर फेंक देते हैं, उनसे आप घर पर ही प्राकृतिक और पौष्टिक खाद बना सकते हैं।

यह कैसे काम करता है?

केले के छिलके पोटेशियम, फास्फोरस और मैग्नीशियम जैसे आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो गेंदे के पौधों के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। जब आप इन छिलकों को खाद में बदलते हैं, तो ये पोषक तत्व धीरे-धीरे मिट्टी में रिलीज होते हैं, जिससे आपके पौधों को स्वस्थ रहने और खूबसूरती से खिलने में मदद मिलती है।

केले के छिलके से खाद बनाने की विधि

सामग्री:

केले के छिलके
पानी
एक कंटेनर (प्लास्टिक या कांच का जार)

विधि:

केले खाने के बाद, छिलकों को धो लें और उन्हें छोटे टुकड़ों में काट लें। एक कंटेनर में केले के छिलके डालें। छिलकों को पूरी तरह से ढकने के लिए पर्याप्त पानी डालें। कंटेनर को ढक्कन से ढक दें और इसे धूप से दूर रखें। खाद को 2-3 सप्ताह तक बनने दें। इस दौरान, आपको कंटेनर को हिलाने और खाद को हवादार बनाने की आवश्यकता नहीं होगी। जब खाद गहरे भूरे रंग का हो जाए और उससे मिट्टी जैसी गंध आने लगे, तो यह उपयोग के लिए तैयार है। खाद को गेंदे के पौधों के गमले में मिट्टी में मिलाएं।

(Disclaimer- यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं के आधार पर बताई गई है। MP Breaking News इसकी पुष्टि नहीं करता।)

 


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News