Lifestyle: सेंधा नमक के फायदे से अगर आप अनजान हैं तो बहुत बड़ी चूक कर रहे हैं

व्रत के फलाहार में इसका उपयोग किया जाता है लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की इसके योगिक हमारे शरीर के लिए बहुत जरुरी है। यह सोडियम और क्लोरीन से तैयार होता हैं इसलिए इसे यौगिक कहना गलत नहीं है।

जीवनशैली, डेस्क रिपोर्ट। यदि आपको भी लगता है कि सेंधा नमक केवल उपवास में उपयोग किया जाता है तो आप पूरी तरह से गलत हैं। आप सेंधा नमक का उपयोग प्रतिदिन कर सकते हैं, क्योंकि सेंधा नमक को बाकी नमक के मुकाबले काफी शुद्ध माना गया है। व्रत के फलाहार में इसका उपयोग किया जाता है लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की इसके योगिक हमारे शरीर के लिए बहुत जरुरी है। यह सोडियम और क्लोरीन से तैयार होता हैं इसलिए इसे यौगिक कहना गलत नहीं है। यह शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स को नियंत्रित करता है। इसे व्रत ले अलावा दैनिक जीवन में भी शामिल कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें – Jabalpur News: किसान अब खुद कर सकेंगे स्लॉट बुकिंग, मोबाइल एसएमएस का नहीं करना पड़ेगा इंतजार

कोई भी रासायनिक प्रक्रिया शामिल नहीं होने के कारण सेंधा नमक को शुद्ध नमक माना जाता है। जब समुद्र या झील का खारा पानी इवोपरेट हो जाता है तब यह प्राकृतिक नमक तैयार होता है। इस प्रक्रिया में यह सोडियम क्लोराइड के रंगीन क्रिस्टल छोड़ देता है। इसके अलावा हिमालयन गुलाबी रंग के नमक को भी सेंधा नमक माना गया है, जिसके कई किस्म मौजूद है। ज्यादा मिनरल्स और कंपाउंड के साथ साथ जस्ता, आयरन, कोबाल्ट, निकल, तांबा, मैंगनीज जैसे आदि पोषक तत्व पाए जाने के कारण यह हमारी सेहत को लाभ देता है।

यह भी पढ़ें – Jabalpur News: कुख्यात हिस्ट्रीशीटर अब्दुल रज्जाक के दामाद ने 1 करोड़ 80 लाख रूपये का किया गबन

आयुर्वेद के अनुसार यह काफी मूल्यवान तत्व है। जो हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में जरूरी हैं। सर्दी खांसी का इलाज हो, पाचन संबंधित समस्या हो या आंखों की रोशनी को दुरुस्त करना हो, यह सभी में लाभदायी है। आयुर्वेद के अलावा विज्ञानं भी सेंधा नामक पर भरोसा करता है इसी वजह से पाचन वाले चूर्ण में इसकी उपस्थिति मौजूद होती है।

  • वैसे तो ज्यादा नमक का सेवन सेहत के लिए हानिकारक होता है। लेकिन इसमें मौजूद सोडियम आपको खराब नींद, मानसिक समस्याओं, दौरे और आक्षेप से बचाता है। सोडियम की कमी से आप कोमा में जा सकते हैं या फिर आपकी मृत्यु भी हो सकती है। यह आपके शरीर में सोडियम का स्तर बनाये रखता है।

यह भी पढ़ें – 31 मार्च तक अगर आधार पैन कार्ड से लिंक नहीं कराया तो देना पड़ेगा जुर्माना

  • इलेक्ट्रोलाइट पोटेशियम का असंतुलन मांसपेशियों में ऐंठन का जोखिम कारक बन जाता है। दरअसल इलेक्ट्रोलाइट्स आवश्यक खनिज हैं शरीर का, क्योंकि यह आपके नर्वस सिस्टम और मांसपेशियों को ठीक रखने में मदद करता है।
  • पारंपरिक आयुर्वेदिक प्रथाओं में आज भी पेट से जुड़ी समस्याओं के लिए सेंधा नमक का उपयोग किया जाता है। चाहे पेट में कीड़े हों, एसिडिटी हो, सूजन कब्ज हो, पेट में दर्द उल्टी के साथ-साथ हर पाचन संबंधित समस्याओं के लिए घरेलू नुस्खों में अजवाइन के साथ सेंधा नमक का प्रयोग किया जाता है।
  • गर्म पानी में सेंधा नमक दाल कर ग्लाले करने से खराश दूर होती है। जिसे भारत के हर परिवार में उपयोग किया जाता है।
  • ऑयली त्वचा वाले ध्यान दें। सेंधा नमक में बेहतरीन एक्सफोलिएटर होता है। जो आपके चेहरे की गहरी सफाई कर सकती हैं। साथ ही दाग-धब्बे दूर करता है। शरीर में जहाँ कट लगा हो या छिला हो वहां इसका उपयोग न करें।