WHO का चौंकाने वाला खुलासा, इस बीमारी से हर 2 सेकंड में हो रही है एक व्यक्ति की मौत

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने हाल ही में एक रिपोर्ट जारी की है, जिसके मुताबिक लाइफस्टाइल संबंधित बीमारियां लोगों की जान ले रही है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) समय समय पर नागरिकों के लिए हेल्थ संबंधित अपडेट देता रहता है। हाल ही में ऑर्गेनाइजेशन ने एक रिपोर्ट जारी की है जो चौंका देने वाली है। रिपोर्ट के मुताबिक खराब लाइफस्टाइल की वजह से हर 2 सेकेंड में किसी ना किसी बीमारी की वजह से लोगों की मौत हो रही है। इसकी वजह है लोगों का आलसीपन जिसके चलते वो बीमार हो रहे हैं।

डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के मुताबिक ऐसे लोग जो हफ्ते में 75 मिनट तक भी कसरत नहीं कर पाते, वह आलसी की श्रेणी में आते हैं। दुनिया भर में जो मौत हो रही है उसमें से 74% लाइफस्टाइल से संबंधित बीमारियों की वजह से हो रही है। हर 2 सेकेंड में एक व्यक्ति हार्ट अटैक, कैंसर या डायबिटीज की वजह से मौत का शिकार हो रहा है।

 

लाइफस्टाइल से संबंधित बीमारियों की वजह से होने वाली मौत के इस आंकड़े में 70 साल से कम उम्र के लगभग 1 करोड़ 70 लाख लोग शामिल है। इन 1 करोड़ 70 लाख लोगों में से 86% लोग मिडल इनकम वाले देशों के हैं। भारत का नाम भी इन्ही देशों में शामिल है। WHO का कहना है कि अगर हर देश हर साल 1 हजार 800 करोड रुपए इन बीमारियों से लड़ने में खर्च करें तो मौत का आंकड़ा कम होगा।

Must Read- Richa Chadha और Ali Fazal ने बनवाया यूनिक वेडिंग कार्ड, सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीरें

ये है भारत की स्थिति

इस रिपोर्ट के मुताबिक अगर भारत में होने वाली मौत के आंकड़ों की बात की जाए तो 66% लोग ऐसे हैं जो खराब लाइफस्टाइल की वजह से किसी ना किसी बीमारी का शिकार होते हैं और इस दुनिया को छोड़ कर चले जाते हैं। भारत में ऐसे 60 लाख 46 हजार 960 लोग हर साल होते हैं जो गंभीर बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। इस आंकड़े में 54% लोग ऐसे हैं जो 70 साल से कम उम्र के हैं। 4% लोग डायबिटीज, 10% लोग कैंसर, 12% लोग सांस की बीमारी और 28% लोग दिल को बीमारी से मौत का शिकार हो जाते हैं।

इसलिए बीमार पड़ रहे भारत के लोग

भारत में बीमार होकर जान गंवाने वाले लोग कुछ वजहों की वजह से बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। यहां 15 साल से ज्यादा उम्र का एक व्यक्ति लगभग साढे 5 लीटर से ज्यादा शराब हर साल पीता है। 28% 15 साल से ऊपर के लोग तंबाकू का सेवन करते हैं। 34% लोग फिजिकल एक्टिव नहीं है। वहीं 11 से 17 की उम्र के 74% बच्चे आलसीपन का शिकार हैं।