दुनियाभर में शादी के अजीब रिवाज, जानकर रह जाएंगे हैरान

सांकेतिक तस्वीर

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। शादी (marriage) जिंदगी का बड़ा अवसर होता है। हम चाहे किसी भी समाज या देश में रहें..शादी का मौका सभी के लिए खास होता है। अलग अलग धर्म और स्थानों पर इससे जुड़े कई तरह के रीति रिवाज हैं। दो लोगों को जीवनभर एक बंधन में बांधने के लिए कई परंपराओं का निर्वहन होता है। लेकिन कुछ जगहों पर शादी के दौरान जिस तरह के रिवाज निभाए जाते हैं, उन्हें जानकार आप आश्चर्य में पड़ जाएंगे। आज हम आपको ऐसे ही अजीबोगरीब रिवाजों के बारे में बताने जा रहे हैं।

फाल्गुनी पाठक को नेहा कक्कड़ पर आया गुस्सा, कहे ये शब्द

  • दूल्हा-दुल्हन को छेड़ने का रिवाज नया नहीं..अक्सर ही दोस्त या घरवाले इनकी खूब खिंचाई करते हैं। लेकिन फ्रांस में तो ये बाकायदा एक परंपरा है। यहां नए जोड़े के दोस्त और रिश्तेदार रात में उनके कमरे और घर के बाहर धमक जाते हैं और तेज शोर करना शुर कर देते हैं। वो यहां गाते है और साथ में ड्रम भी बजाते हैं। बात यहीं नहीं थमकी, अगर दूल्हा दुल्हन इन्हें नजरअंदाज करें तो ये कई बार अंदर घुसकर दूल्हे को उठा ले जाते हैं।
  • हमारे यहां शादी से पहले हल्दी की रस्म होती है। लेकिन स्कॉटलैंड में शादी से पहले दूल्हा दुल्हन पर सड़े टमाटर और सड़ी हुई मछलियां फेंकी जाती हैं। मान्यता है कि जो लोग इनका सामना करते हुए भी खुद को संभाल लेते हैं तो जीवन में किसी भी मुश्किल परिस्थिति से निपट सकेंगे।
  • शादी के बाद विदाई सबसे भावुक समय होता है। इस मौके पर दुल्हन और रिश्तेदार क्या, अनजान लोगों की आंखों में भी आंसू आ जाते हैं। लेकिन चीन के एक हिस्से में रोने की बाकायदा रोने का रिवाज निभाया जाता है। दुल्हन को शादी के एक महीने पहले से रोजाना एक घंटे रोना पड़ता है और इसमें दुल्हन के घरवालों को भी साथ देना होता है। माना जाता है कि इससे उसका वैवाहिक जीवन अच्छा बीतता है।
  • शादी से पहले कई लड़िकयां डाइट और एक्सरसाइज शुरू कर देती हैं। अपनी शादी के खास मौके पर स्लिम और सुंदर दिखने के लिए वो हर कवायद करती है। लेकिन मॉरिटानिया में ये रिवाज है कि दुल्हन जितनी मोटी होगी, उतना अच्छा होगा। इसके लिए कई बार पैरेंट्स अपने बेटियों को ‘फैट कैंप’ में भी भेजते हं। इस रिवाज को वहां Leblouh कहा जाता है। यहां लड़कियों को कई बार जबरदस्ती खाना खिलाया जाता है ताकि उनका वजन बढ़ सके।
  • हमारे यहां दूल्हा दुल्हन को नजर न लगे, इसके लिए काला टीका लगाया जाता है। लेकिन स्कॉटलैंड के कुछ ग्रामीण इलाकों मेें तो दूल्हा दुल्हन पर पूरी तरह कालिख पोत दी जाती है। ये रिवाज इसलिए किया जाता है ताकि उन्हें आगे जीवन में किसी तरह की कठिनाई का सामना न करना पड़े। इसी के साथ उन्हें अजीबोगरीब चीजों से स्नान भी कराया जाता है।
  • हमारे यहां लड़की वाले ही वर पक्ष को उपहार देते हैं। पहले दहेज की परंपरा थी जो अब गैर कानूनी है, लेकिन उपहार पैसे देने का सिलसिला अब भी थमा नहीं। मगर फिजी में मामला उलट है, यहां अगर कोई लड़का किसी लड़की के पिता से उसका हाथ मांगने जाता है तो उसे अपने भावी ससुर को तोहफा देकर खुश करना होता है। वो लड़की के पिता को व्हेल मछली के दांतों से बने गहने देता है और अगर वो खुश होते हैं तभी उसे दामाद के रूप में स्वीकारते हैं।
  • चीन के एक स्थान पर बहुत ही अजीब रिवाज है..शादी तय करने से पहले मुर्गे की चीरफाड़ करते हैं और अगर उसका लीवर स्वस्थ निकलता है तभी शादी मंजूर की जाती है। अगर स्वस्थ लीवर नहीं निकला तो शादी के लिए रजामंदी नहीं दी जाती और जोड़े को फिर से किसी मुर्गे की तलाश करनी पड़ती है।
  • बोर्नियो के टाईडॉन्ग (Tidong) जाति के लोगों का ये रिवाज अजीब ही नहीं, सेहत के लिए नुकसानदेह भी है। यहां दूल्हा दुल्हन को तीन दिन तक बाथरूम नहीं जाने दिया जाता। इसकी निगरानी के लिए समाज के बड़े बुजुर्ग मौजूद रहते हैं। इसी कारण उन्हें तीन दिन खाना पीना भी न के बराबर ही दिया जाता है। मान्यता है कि अगर इस दौरान वे  बाथरूम गए तो उन्हें बदनसीबी का सामना करना पड़ेगा।