1 जनवरी 2022 से बदलेंगे बैंक के ये महत्वपूर्ण नियम, आमजन के जेब पर बढ़ेगा खर्च

नए शुल्क 1 जनवरी, 2021 से लागू होंगे।

suspected-arrested-from-hotel-in-bhopal

नई दिल्ली, डेस्क रिपो।र्ट नए साल में Bank में RBI कई बड़े बदलाव होंगे। इनमें डेबिट या क्रेडिट कार्डधारक (Debit & Credit Card) 2022 में एक बड़ा बदलाव देखने के लिए तैयार हैं। RBI ने देश भर के सार्वजनिक और निजी बैंकों के लिए एटीएम (ATM) से निकासी पर शुल्क बढ़ाने का फैसला किया है। अब ग्राहक द्वारा मुफ्त मासिक सीमा समाप्त होने के बाद बढ़े हुए शुल्क लागू होंगे।

इसके अलावा भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने टोकनाइजेशन (tokenization) पर बड़ा फैसला लिया है। RBI ने ग्राहकों की सुविधा के लिए कार्ड टोकनाइजेशन सिस्टम (tokenization system) की डेडलाइन को 30 जून 2022 तक के लिए बढ़ा दिया है। RBI ने गुरुवार को इसके लिए एक सर्कुलर जारी किया है।

आरबीआई (RBI) की ओर से जारी नोटिफिकेशन (notification) में कहा गया है कि बैंक ग्राहकों को एटीएम से नकद निकासी के लिए पहले जितना भुगतान कर रहे थे, उससे अधिक भुगतान करना होगा। ग्राहकों को पैसे निकालने के लिए अब 1 रुपये ज्यादा देना होगा। इसके साथ ही टोकनाइजेशन (tokenization) व्यवस्था में बदलाव किया गया है।

Read More : MP Weather: मप्र में फिर बिगड़ेगा मौसम, सोमवार से बारिश के आसार, ओलावृष्टि की भी संभावना

ये हैं ATM के नए नियम

  • पहले ग्राहकों को फ्री लिमिट (free limit) खत्म होने के बाद 20 रुपये प्रति ट्रांजैक्शन देना होता था, अब ग्राहकों को 21 रुपये प्रति ट्रांजैक्शन देना होगा।
  • RBI के मुताबिक अगस्त 2014 से चार्जेज में कोई बदलाव नहीं किया गया है।
  • आरबीआई ने कहा कि इस कदम से बैंकों को उच्च इंटरचेंज शुल्क और लागत में सामान्य वृद्धि की भरपाई होगी।
  • नए शुल्क 1 जनवरी, 2021 से लागू होंगे।
  • ध्यान देने वाली बात है कि ग्राहकों को अपने ही बैंक से 5 फ्री ट्रांजैक्शन की इजाजत है।
  • ग्राहक दूसरे बैंकों के ATM से भी कैश निकालने के लिए पात्र हैं। मेट्रो शहरों में प्रति माह तीन और गैर-मेट्रो शहरों में पांच ऐसे लेनदेन की अनुमति है।
  • नया नियम कैश रिसाइकलर मशीनों पर भी लागू है।
  • यह याद किया जा सकता है कि आरबीआई ने अगस्त 2021 में लेनदेन की सीमा को संशोधित किया।