Betul : किन्नर बहनों ने पहली बार बांधी राखी, बैतूल में हुआ अनूठा आयोजन

बैतूल, वाजिद खान। रक्षाबंधन पर बैतूल में इस साल एक भाई ने कुछ खास किया है। अपनी बहनों के साथ ही उसने किन्नर बहनों से भी राखी बंधवाई है और उन्हें उनके अधिकार दिलाने का वचन दिया है। किन्नर बहनें भी राखी बांधकर भावुक हो गईं और कहा कि पहली बार हमें राखी बांधने का मौका मिला है।

Damoh: पौधारोपण करने वाली संस्था मिशन ग्रीन ने किया निशुल्क पौधों का वितरण

Betul : किन्नर बहनों ने पहली बार बांधी राखी, बैतूल में हुआ अनूठा आयोजन

समाजसेवी राजेंद्र सिंह उर्फ केन्डू बाबा ने इस बार राखी का त्योहार किन्नर बहनों के साथ मनाया। किन्नर शोभा गुरु के साथ  उनकी 15 शिष्याओं ने केन्डू बाबा को राखी बांधी है। आमतौर पर समाज से अलग थलग रहने और उपोक्षित माने जाना वाले किन्नरों के लिए ये खुशी भरा पल था जब उन्हें राजेंद्र सिंह ने राखी बांधने के लिए आमंत्रित किया। राखी बांधने के बाद किन्नर भी भावुक हो गए। इस मौके पर भाई ने इन किन्नर बहनों को वचन दिया कि वो उनके अधिकार दिलाने के लिए आगे आएंगे।

दरअसल राजेंद्र सिंह हर साल रक्षाबंधन के पहले राखी महोत्सव के रूप में कार्यक्रम आयोजित करते हैं। इस आयोजन में शहर के विभिन्न इलाकों की गरीब महिलाएं उन्हें राखी बांधती हैं। राजेंद्र सिंह इनसे राखी बंधवाने के बाद बहनों को उपहार देते हैं और हमेशा उनकी समस्याओं में शामिल होकर उनकी मदद भी करते हैं।

बहनों की समस्याओं के निराकरण के लिए वह अक्सर आंदोलन करते हैं और अपनी बहनों की आवाज सरकार तक पहुंचाते हैं। हर साल उन्हें सैकड़ों की संख्या में बहनें राखी बांधने आती है जिनमें हिंदू और मुस्लिम सभी समुदाय की महिलाएं शामिल होती हैं। इस साल कोविड के कारण उन्हें बड़ा कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं मिली जिसके कारण लगभग सवा सौ बहनों ने उन्हें राखी बांधी, जिनमें 15 किन्नर बहनें भी शामिल थीं।