सर्दियों में बहती रहती है नाक, इन घरेलू तरीकों से मिलेगा छुटकारा

Lifestyle News: सर्दियों के मौसम की एक बड़ी परेशानी है कि एक बार सर्दी हो तो नाक कई दिनों तक बहती है। कफ हो तो सिरप पी कर ठीक किया जा सकता है। गंभीर सर्दी जुकाम हो तो दवाओं से काम चल जाता है, लेकिन बहती नाक से निपटने का कोई ऐसा आसान इलाज नहीं है जो तुरंत राहत दे और उसके बाद काम पर लगा जा सके। रनिंग नोज की वजह से कोई भी काम कर पाना आसान नहीं होता। हालांकि, कुछ घरेलू नुस्खे आजमा कर आप बहती हुई नाक से राहत हासिल कर सकते हैं। नाक का बहने की वजह साइनस में सूजन या इंफेक्शन हो सकता है।

नाक बंद होने पर तो भाप ली ही जाती है रनिंग नोज के लिए भी भाप लेना फायदेमंद होता है। इससे नाक बहना काफी समय के लिए रूक जाती है। नाक ज्यादा बह रही हो तो सांस को अंदर लेकर छोड़ते हुए बाहर करना चाहिए। इस तरह नाक की पूरी सफाई करने से बहती नाक से काफी हद तक राहत मिलती है।
बहती हुई नाक को कंट्रोल करने में मालिश भी बहुत काम आती है। आप हल्के दबाव के साथ नाक, आंख, कानों के बीच में मालिश करें। आंखों के ऊपर और माथे पर भी मालिश करें, इससे नाक बहना कंट्रोल होगा।

गर्म पानी से नहाने से भी कुछछ देर के लिए बहती हुई नाक से राहत हासिल की जा सकती है।
कान में हल्का गुनगुना तेल डालकर, कान के बाहर दबाते हुए कुछ देर मालिश करें और हल्का दबाव देते रहे। ऐसा करने से सिरदर्द में भी राहत मिलती है और बहती हुई नाक से छुटकारा मिलता है। लेकिन कान में तेल तब ही डालें जब आपको इससे किसी तरह की एलर्जी या तकलीफ न हो। नमक के पानी से भी बहती नाक से राहत मिलती है। नमक के गर्म पानी में एक छोटा टॉविल भिगो कर चेहरे पर रखें और भाप लेते रहें। ऐसा करने से भी बहती नाक से राहत मिलती है।