MP में हड़ताल पर उतरे 18 हजार निजी स्कूल, कर रहे हैं ये दो मांग

मध्य प्रदेश के निजी स्कूल (MP Board) आज हड़ताल के तौर पर बंद रहेंगे। अपनी दो मांगों के चलते 18000 निजी स्कूलों ने हड़ताल पर जाना तय किया है।

school

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के निजी स्कूल (MP Board) आज हड़ताल के तौर पर बंद रहेंगे। अपनी दो मांगों के चलते 18000 निजी स्कूलों ने हड़ताल पर जाना तय किया है। स्कूल पांचवी आठवीं की परीक्षा बोर्ड किए जाने का विरोध करते हुए आरटीई की फीस दीपावली से पहले भुगतान करने की मांग कर रहे हैं। सोसायटी फॉर प्राइवेट स्कूल के डायरेक्टर के आव्हान पर 1 दिन की हड़ताल रखी गई है।

सोसायटी फॉर प्राइवेट स्कूल के डायरेक्टर का इस बारे में कहना है कि 14 अक्टूबर को आरटीई की फीस का भुगतान करने का आश्वासन सरकार की ओर से दिया गया था लेकिन अब तक नहीं आया है। सोपास की मांग है कि दीपावली से पहले स्कूलों को यह भुगतान कर दिया जाए।

Must Read : वैशाली की नजरें अब भी देख सकेगी दुनिया, परिवार ने की आंखें डोनेट

आरटीई फीस की बात करें तो राइट टू एजुकेशन एक्ट के तहत 25 फीसदी सीटों पर निजी स्कूलों को आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के बच्चों को एडमिशन देना होता है। इन बच्चों को किताबें और यूनिफॉर्म भी स्कूल की ओर से ही दी जाती है। यह सारा खर्चा सरकार निजी स्कूलों को देती है। इस साल निजी स्कूलों को फीस का भुगतान अब तक नहीं मिला है जो दीपावली से पहले करने की मांग की जा रही है।

इसके अलावा पांचवी और आठवीं की परीक्षा एमपी बोर्ड से कराने के फैसले का भी निजी स्कूल विरोध कर रहे हैं। स्कूलों का कहना है कि बोर्ड परीक्षा कराए जाने के आदेश को वापस लिया जाए। स्कूलों का कहना है कि सरकार चाहे तो अगले सत्र से पांचवी और आठवीं को बोर्ड परीक्षा में शामिल कर ले। गवर्नमेंट ने हाल ही में पांचवी और आठवीं की बोर्ड परीक्षा लेने का निर्णय सुनाया था। सभी सरकारी और निजी स्कूलों को यह आदेश दिया गया है।