हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से बच्चा घायल, परिजनों ने लगाया बिजली विभाग पर लापरवाही का आरोप

परिजनों ने बताया कि बिजली विभाग को इसकी कई बार शिकायत की गई है, लेकिन विभाग द्वारा अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

रतलाम, मनोज श्रीवास्तव। रतलाम के तेजा नगर में एक 7 वर्षीय बालक हाईटेंशन लाइन की चपेट में आ गया जिससे करंट लगने से बच्चे के सिर और दाढ़ी में गंभीर चोट आई है। परिजन बच्चे को लेकर तत्काल जिला अस्पताल पहुंचे जहां उसे इमरजेंसी वार्ड में भर्ती करवाया गया है। बताया जा रहा है कि 7 वर्षीय पूर्व पोरवाल अपने घर की छत पर खेल रहा था तभी अचानक छत के पास से गुजर रहे हाईटेंशन लाइन के तारों के संपर्क में आने से बच्चे को करंट का जोरदार झटका लग गया। परिजनों ने बिजली विभाग पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।

ये भी पढ़ें- सीएम शिवराज सिंह चौहान का बड़ा फैसला- खरगोन एसपी को हटाया

दरअसल रतलाम के तेजा नगर क्षेत्र में रिहायशी इलाके से हाईटेंशन लाइन गुजर रही है। जिसे शिफ्ट करने के लिए मोहल्ले वासियों ने हादसों की संभावना को देखते हुए कई बार बिजली विभाग को लिखित आवेदन दिया है, लेकिन बिजली विभाग द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिसके बाद अब 7 वर्षीय बच्चा बिजली के तारों की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हो गया है। पीड़ित बालक के पिता मोहित पोरवाल ने बताया कि एमपीईबी के स्थानीय कार्यालय से लेकर सीएम हेल्पलाइन तक हाईटेंशन लाइन के तारों से हादसे होने की शिकायत की थी लेकिन बिजली विभाग द्वारा लाइन शिफ्ट करने के लिए 5 लाख रुपये जमा करवाने की बात कही गई थी। जिसके बाद आज उनके बेटे के साथ बड़ा हादसा हो गया।