बैतूल की 82 बेटियों को मिला रोजगार, बैंगलोर के आदित्य बिरला ग्रुप फैक्ट्री में करेंगी काम

आजीविका मिशन की योजना के तहत बैतूल की 82 बेटियों को रोजगार मिला है।

बैतूल, वाजिद खान। बैतूल (Betul district) में महिलाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए चलाई जा रही आजीविका मिशन की योजना के तहत 82 बेटियों को रोजगार मिला है। इन बेटियों को योजना के तहत सिलाई मशीन ऑपरेटिंग की ट्रेनिंग दी गई। इसी के तहत आदित्य बिरला ग्रुप में इन्हें रोजगार मिला है।

ये भी पढ़ें- SAHARA ने नहीं किया भुगतान, लोगों का फूटा गुस्सा, एजेंट की दुकान पर जड़ा ताला

दरअसल बैतूल जिला पंचायत के माध्यम से महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए आजीविका मिशन चलाया जा रहा है। इसके तहत जिले में ऐसी महिलाएं या युवतियां जो स्वरोजगार से जुड़ना चाहती है उन्हें ट्रेनिंग देकर जॉब दिलाए जाता है। इसके अलावा उनको स्व सहायता समूह के माध्यम से रोजगार भी दिलाया जाता है। योजना के तहत आजीविका मिशन के साथ वजीर स्किल एवम एचडीएफसी परिवर्तन फायनेंशियल ने रोजगार मेले का आयोजन किया था और उसमें चयनित महिलाओं और युवतियों को डेढ़ माह तक सिलाई मशीन ऑपरेटिंग की ट्रेनिंग दी गई। इसके बाद इनका बेंगलुरु में स्थित आदित्य बिरला ग्रुप की फैक्ट्री में सिलाई मशीन ऑपरेटिंग का जॉब मिला है। इस जॉब के लिए 82 महिलाओं और युवतियों का चयन हुआ है ।

बेटियां बैतूल से खुशी-खुशी बेंगलुरू रवाना हुई हैं। उनका कहना है कि उन्हें जॉब मिलने पर उनका परिवार भी खुश है और अधिकारी भी इनके चयन से खुश हैं। उनका कहना है कि इनको जॉब मिलने से सभी महिलाओं और बेटियों का हौसला बढ़ेगा और आगे भी बैतूल में आजीविका मिशन के माध्यम से महिलाओं और युवतियों को रोजगार दिलाया जाएगा।