Amazon कंपनी के खिलाफ एक पिता ने लगाई पुलिस से गुहार, कहा – ‘Amazon ने ले ली उसके बेटे की जान’

इंदौर में एक परिवार ने अमेजॉन कंपनी के खिलाफ संगीन आरोप लगाए हैं। परिवार का आरोप है कि उनके नौजवान बेटे की मौत की वजह ऑनलाइन कंपनी Amazon है। परिवार ने कंपनी के खिलाफ मामला भी दर्ज करवाया है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। ऑनलाइन कंपनी अमेजॉन (Amazon) के खिलाफ इंदौर में एक परिवार ने संगीन आरोप लगाते हुए कंपनी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। परिवार का आरोप है कि उनके नौजवान बेटे की मौत की वजह ऑनलाइन कंपनी Amazon है।

ये भी देखें- Muharram 2021: क्या है मुहर्रम मनाने की खास वजह? क्यों निकाला जाता है जुलूस? जानिए सबकुछ

दरअसल, पूरा मामला इंदौर के छत्रीपुरा थाना क्षेत्र की लोधा कालोनी का है। जहां किराये के मकान में रहने वाले 18 वर्षीय आदित्य वर्मा नामक युवक ने जहर खाकर अपनी जान दे दी। हालांकि आत्महत्या के पीछे की वजह क्या है इस पर तो पुलिस ने मर्ग कायम जांच शुरू कर दी है लेकिन सुसाइड के इस मामले में ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी Amazon का नाम सामने आ रहा है। मृतक युवक के पिता का आरोप है कि उनके बेटे की हत्यारी है amazon कंपनी।

इन आरोपों में कितनी सच्चाई है ये तो पुलिस की जांच के बाद साफ हो पायेगा लेकिन लाचार पिता की होनहार संतान का अचानक यूं चले जाना पूरे परिवार को नागवार गुजरा है। घटना 29 जुलाई 2021 की है जब आदित्य पिता रंजीत वर्मा नामक एक युवक ने किराये के मकान में जहर खाकर सो गया और जब परिजनों को पता चला कि उसने जहर खाया है तो उसे तुरंत चोइथराम अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टर्स ने 30 जुलाई की सुबह युवक को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पूरे मामले में छत्रीपुरा पुलिस ने मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया था। वहीं पोस्टमार्टम की प्रारंभिक रिपोर्ट में ये बात सामने आई कि आदित्य की मौत जहर खाने से हुई है।

ये भी देखें- MP के कर्मचारी-अधिकारियों के लिए बड़ी खबर, रुक सकता है वेतन, निर्देश जारी

अब इस पूरे मामले में Amazon ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी का नाम क्यों सामने आ रहा है ये बड़ा सवाल है। दरअसल, जब युवक की मौत हुई और उसका अंतिम संस्कार करने के बाद पिता ने उसके मोबाइल से सुसाइड के कारणों का पता लगाने की कोशिश की तो सामने आया कि उनके बेटे ने जो जहर खाया है उसकी डिलेवरी और खरीदी Amazon से की गई थी। मृतक आदित्य ने पहली बार जहर की ऑनलाइन खरीदी का ऑर्डर 20 जुलाई के आसपास किया था और 22 जुलाई की भुगतान न होने की स्थिति में ऑर्डर कैंसल किया गया था। इसके बाद दोबारा amazon से आदित्य ने जहर मंगवाया तो 28 जुलाई को उसके पास सल्फास की डिलेवरी की गई। जब परिजनों ने आदित्य के सामान को खंगाला तो चार में से एक पावडर का पैकेट उन्हें मिला।

Amazon कंपनी के खिलाफ एक पिता ने लगाई पुलिस से गुहार, कहा - 'Amazon ने ले ली उसके बेटे की जान'

हालांकि आदित्य के चले जाने के बाद उसका पूरा परिवार सदमे है वही पिता का आरोप है कि amazon कंपनी की वजह से उनके बेटे की जान चली गई है। फल फ्रूट बेचकर गुजर बसर करने मृतक के पिता रंजीत वर्मा ने Amazon के खिलाफ छत्रीपुरा थाने से लेकर पुलिस के आला अधिकारियों को शिकायत की है। पिता का कहना है कि आज के समय मे खांसी की दवाई भी डॉक्टर के लिखे बगैर मेडिकल दुकान पर नही मिलती है ऐसे में amazon कंपनी द्वारा कैसे उनके बेटे को जहर डिलीवर किया गया जबकि दवाओं से लेकर ऐसी वस्तुओं को बेचने की लेकर कानूनी प्रावधान है। अब पिता पुलिस और कानून अपने पास रखे सबूतों के आधार पर मांग की जा रही है कि उन्हें इंसाफ दिलाया जाये और Amazon कंपनी और उसके संबंधित अधिकारी लक्ष्मण घाडगे पर कड़ी कार्रवाई की जाए ताकि फिर किसी बेटे की जान न जाये और फिर किसी परिवार के घर का चिराग न बुझे। सुसाइड कर जान देने वाले आदित्य के पिता रंजीत वर्मा ने Amazon कंपनी पर हत्या का आरोप लगाया है। पिता की माने तो उसने पुलिस की शरण ली और अब वो बस ये चाहते है कि उनकी शिकायत और सबूतों के आधार पर कंपनी पर कार्रवाई की जाए।

ये भी देखें- Transfer: MP में सरकार ने बढ़ाई तबादलों की अवधि, अब इस दिन तक होंगे ट्रांसफर

फिलहाल, इस अनूठे मामले के सामने आने के बाद कई सवाल ऑनलाइन कंपनियों पर उठ रहे है क्योंकि खाने पीने और इलेक्ट्रॉनिक सामान के अलावा इन कंपनियों से जहर भी आसानी से मिल जाता है जो इन ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियों पर सवाल उठाने के काफी है। फिलहाल, इस मामले में कंपनी पर क्या कार्रवाई की जाती है इस पर अभी सवाल बने हुए है लेकिन मृतक आदित्य के माता पिता तो ये ही चाहते है कि उनके मासूम की मौत का इंसाफ उन्हें मिले ताकि फिर किसी के साथ ऐसा न हो जैसा उनके साथ हुआ है।