महाराज बाड़े का निरीक्षण कर बोले सिंधिया, आधुनिकता और पुरानी संस्कृति का होगा संगम

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मैं संतुष्ट ही नहीं बहुत खुश हूँ कि जो इमारतें खंडहर हो गई थी अब फिर से खूबसूरत हो गई है। यकीन नहीं हो रहा।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। स्मार्ट सिटी कंपनी (Smart City Company) के कार्यों का निरीक्षण करने सुबह सुबह महाराज बाड़ा(MaharajBada) पहुंचे सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya scindia)ने कहा कि कार्यों की प्रगति देखकर मैं संतुष्ट ही नहीं बहुत खुश हूँ। जो इमारतें खंडहर हो गई थी आज इतनी खूबसूरत हो गई हैं यकीन नहीं होता। उन्होंने कहा कि यहाँ आधुनिकता के साथ पुरानी संस्कृति का संगम भी देखने को मिलेगा, जिसका लाभ जल्दी ही पर्यटकों (Tourists) को भी मिलेगा।

शहर के हृदय स्थल महाराज बाड़े (Maharaj Bada) पर स्मार्ट सिटी कंपनी द्वारा कराये जा रहे विकास कार्यों को देखने के लिए रविवार को राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotirditya Scindia) पहुंचे। उन्होंने डिजिटल म्युजियम (Digital Museum), प्लेनेटोरियम (Planetarium), टाउन हॉल (Town Hall), विक्टोरिया मार्केट (Victoria Market)में बन रहा जीयोलॉजी म्युजियम (Geology Museum) सहित संपूर्ण बाड़े का निरीक्षण किया। उनके साथ संभाग आयुक्त एवं नगर निगम प्रशासक आशीष सक्सेना (Ashish Saxena)एवं स्मार्ट सिटी कंपनी की CEO जयति सिंह (Jayati singh)भी थे। सिंधिया (Scindia)ने डिजिटल म्युजियम, प्लेनेटोरियम के बारे में CEO जयति सिंह से विस्तार से बात की और सभी कार्यों की गति तेज करने के निर्देश दिये।

मीडिया से बात करते हुए सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia)ने कहा मैंने पूरे महाराज बाड़ा (Maharaj Bada) क्षेत्र को देखा है। कल स्मार्ट सिटी कंपनी (Smart City Company) के अधिकारियों के साथ हुई मीटिंग में कार्यों की प्रगति की जो बातें सामने रखी गई थी उसे धरातल पर आकर मैंने देखा है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मैं संतुष्ट ही नहीं बहुत खुश हूँ कि जो इमारतें खंडहर हो गई थी अब फिर से खूबसूरत हो गई है। यकीन नहीं हो रहा। सिंधिया (Scindia)ने कहा कि यहाँ आधुनिकता के साथ एनर्जी सेविंग, ट्रैफ़िक, पार्किंग व्यवस्था के साथ पुरानी संस्कृति का संगम देखने को मिलेगा। सिंधिया (Scindia)ने कहा कि जल्दी ही इसे पर्यटकों के लिए खोला जायेगा। अभी कोरोना के कारण डिजिटल म्युजियम और प्लेनेटोरियम को देखने रोज केवल 100 लोगों की अनुमति थी लेकिन अब कोरोना पर नियंत्रण के साथ साथ धीरे धीरे संख्या बढ़ाएंगे। ये सब हो जाने से महाराज बाड़े का पुराना वैभव लौटेगा जिसका लाभ पर्यटकों को मिलेगा।