करवा चौथ पर प्रेम-समर्पण : पति की मौत के बाद वियोग में पत्नी ने दी जान, एक साथ निकली अर्थी

मामले पर पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है। प्रथम दृष्टी से अंदाजा लगाया जा रहा है कि पति की मौत के बाद पत्नी विद्या बाई इसका दुख नहीं सहन कर सकी और आत्मदाह कर जान देदी।

देवास/बागली, सोमेश उपाध्याय। मध्य प्रदेश के देवास जिले में पति-पत्नी के अटूट रिश्ते पर करवाचौथ के पर्व के दिन दोनों की मौत से पूरे इलाके में मायूसी छा गई है। पति-पत्नी के प्रेम और समर्पण के पर्व करवा चौथ पर जिले के बागली ब्लाक के उदयनगर मे पति की मौत के बाद वियोग में पत्नी की भी मौत का दुःखद समाचार सामने आया है।

ये भी पढ़ें- Video : बेलगाम ऑटो ने स्कूटी सवार महिला को आधा किलोमीटर घसीटा, देखें वायरल वीडियो

जानकारी के अनुसार उदयनगर में तहसील अंतर्गत रहने वाले भानुप्रसाद दुबे पिछले 15 वर्षों से अस्वस्थ थे। उनकी पत्नी विद्या बाई ही उनकी देख-रेख करती थी। ये दम्पति नि:स्तान थे। वहीं बीते शुक्रवार के बाद से ही जब घर का दरवाजा नही खुला तो मोहल्ले वालों को शंका हुई। उसके बाद रिश्तेदारों को बुलवाया गया। जिसके बाद रिश्तेदार और पुलिस की मौजूदगी में दरवाजा तोड़ा तो भानुप्रसाद मृत हालात में मिले और पत्नी विद्या बाई जली हुई अवस्था में।

प्रथम दृष्टया प्रतीत हुआ कि पति की मौत के बाद पत्नी विद्या बाई वियोग नहीं सहन कर सकी और आत्मदाह के बाद जान देदी। हालांकि पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है। स्थानीय लोगों ने बताया कि दोनों दम्पति में बहुत प्रेम था, पत्नी विद्या बाई का पति के प्रति पूरा समपर्ण था। पति का 12 वर्ष पहले बीमारी के चलते पैर काटना पड़ा था, उसके बाद से ही वे बिस्तर के सहारे थे। दोनों दम्पति एक दूजे के बिना कभी नहीं रहे। हादसे के बाद अंत्येष्टि में स्थानीय ग्रामीण शामिल हुए जिन्होंने एक ही चिता पर दोनों दम्पति की चिता जलाई।