उज्जैन लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई, आगर में पंचायत सचिव को 10 हजार रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोचा

पीड़ित का कहना था कि ग्राम पंचायत सिरपोई के सचिव राजेश तिवारी द्वारा उनसे कपिलधारा कूप योजना के तहत को की राशि स्वीकृत कराने रिश्वत की मांग की जा रही है।

आगर, डेस्क रिपोर्ट। आगर में लोकायुक्त उज्जैन (ujjain lokayukt) द्वारा बड़ी कार्रवाई की गई है। दरअसल पंचायत सचिव को रंगे हाथों रिश्वत (agar bribe)  लेते दबोचा गया है। पंचायत सचिव द्वारा काम के एवज में फिर से 10000 रूपए रिश्वत की मांग की गई थी। वहीं आज टी स्टॉल पर पंचायत सचिव को पैसे लेते हुए रंगे हाथों दबोच लिया गया।

Read More : Bhopal: चोरी करने के बाद चोरों ने इंश्योरेंस-फाइनेंस ऑफिस में लगाई आग, उखाड़ दिए CCTV कैमरा

जानकारी के मुताबिक सिरपोई गांव के दशरथ सिंह चौहान ने पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त उज्जैन अनिल विश्वकर्मा से शिकायत की थी। पीड़ित का कहना था कि ग्राम पंचायत सिरपोई के सचिव राजेश तिवारी द्वारा उनसे कपिलधारा कूप योजना के तहत को की राशि स्वीकृत कराने रिश्वत की मांग की जा रही है। पंचायत सचिव राजेश तिवारी द्वारा पेड़ से 10000 रूपए रिश्वत की मांग की गई थी।

मामले में उज्जैन लोकायुक्त ने जांच पड़ताल की। वही मामला सही पाए जाने के बाद आज उज्जैन लोकायुक्त ने प्लान के तहत पहले पीड़ित को पैसे लेकर पंचायत सचिव के पास भेजा। गुप्ता पैट्रोल पंप आगर के सामने मथुरा टी स्टॉल पर जैसे ही पंचायत सचिव राजेश तिवारी को दशरथ सिंह चौहान ने पैसे दिए। इस दौरान लोकायुक्त उज्जैन द्वारा पंचायत सचिव को रंगे हाथों दबोच लिया गया।