गायों की मौत पर भाजपा नेताओं ने कांग्रेस सरकार की अर्थी निकाली

bjp-leader-burn-effigy-of-congress-government

आगर मालवा। गिरीश सक्सेना।

आगर मालवा जिले के सालरिया में स्थित देश के प्रथम गोआभ्यारण “कामधेनु” में लगातार बड़ी मात्रा में मर रहे गोवंश को लेकर सियासी उठापठक बढ़ती जा रही है । हालांकि मंगलवार को हुए घटनाक्रम के बाद कलेक्टर आगर मालवा द्वारा 3 सदस्यीय जांच दल गठित कर दिया गया है। जिसे 3 दिन में जांच प्रतिवेदन देने को भी कहा गया है।

इसके बाद भी इस जांच दल के गठन से असंतुष्ट भाजपा कार्यकर्ताओं ने आगर के छावनी झण्डा चोक से कलेक्टर कार्यालय तक नारेबाजी करते हुए प्रदेश की कांग्रेस सरकार की अर्थी निकाली और उसके बाद कांग्रेस सरकार का पुतला दहन किया है। अंत मे कलेक्टर कार्यालय में मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सोपते हुए सालरिया गोआभ्यारण में बड़ी संख्या में रोज हो रही गायो की मौत पर नाराजगी व्यक्त करते हुए गोवंश की मौत का कारण पता लगाने के साथ ही अभयारण में हो रही आर्थिक अनियमितता की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है ।

साथ ही गोआभ्यारण का संचालन सुव्यवस्थित तरीके से हो इसके लिए मुख्यमंत्री से आवश्यक निर्देश एवं व्यवस्था करने की मांग भी की गई है। हम आपको बता दे कि कल दिनांक 29-1-19 को भजपा के पूर्व विधायक मुरलीधर पाटीदार, बद्रीलाल सोनी के साथ ही कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं एवं पत्रकारों ने गोअभयारण का निरीक्षण किया था जिसमे 30 से भी अधिक गोवंश के मरने का दावा करते हुए उसका पंचनामा भी बनाया गया था । इसी दौरान एक नवजात बछिया की एक आँख को पक्षी द्वारा खाए जाने का मामला भी प्रकाश में आया था जिसके बाद क्षेत्र में सियासी पारा अचानक बड़ गया और अभी तक अपनी ही सरकार में इस अभयारण को लेकर अपने को छुपते छुपाते आ रहे भाजपा कार्यकर्ता अब सरकार बदलते ही अचानक आक्रामक हो गए है और उसी के चलते आज जिले की इन भाजपा कार्यकर्ताओ द्वारा कांग्रेस की सरकार को लेकर इस प्रकार का आंदोलन किया है ।