कोयला खदान कर्मचारियों की समस्याओं को लेकर एटक की अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरु

लंबे समय से कर्मचारियों की समस्याओं पर प्रबंधक ध्यान नहीं दे रहे हैं, जिसको लेकर आज एटक द्वारा हड़ताल की गई है।

परासिया, विनय जोशी। कोयला खदान कर्मचारियों की समस्याएं और क्षेत्र में चल रहे सिविल कार्यों में गड़बड़ी जैसे अन्य मुद्दों को लेकर आज संयुक्त कोयला मजदूर संघ एटक ने अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरु की। परासिया के पेंच महाप्रबंधक कार्यालय के सामने एटक ने प्रर्दर्शन किया।

ये भी पढ़ें- जिला जेल में कैदी से मारपीट का मामला, मुरैना जांच करने पहुंचे केंद्रीय सुप्रिडेंट

इस दौरान पेंच एवं कन्हान क्षेत्र के एटक महामंत्री रामकेरा यादव ने बताया कि लंबे समय से कर्मचारियों की समस्याओं पर प्रबंधक ध्यान नहीं दे रहा है। बड़कुही स्थित केंद्रीय चिकित्सालय में चिकित्सकों की कमी है जिसके चलते कोयला कामगार एवं उसके परिवार सदस्यों को इलाज में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र भर में चल रहे सिविल कार्यो में भारी गड़बड़ी है, जिसकी जांच होनी चाहिए। कर्मचारियों के लिए कल्याणकारी सुविधा उपलब्ध कराना, पानी की समुचित व्यवस्था, ठेका श्रमिकों को उचित वेतनमान सामाजिक सुरक्षा एवं भविष्य निधि की कटौती करना शामिल है। इसके अलावा खदानों के कोयले के भंडारण में जो आग लग जाती है उन जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई की जाए।

ये भी पढ़ें- Sex Racket: ऑनलाइन होती थी लड़कियों की बुकिंग, फोटो से तय होते थे रेट, 13 गिरफ्तार

परासिया से नेहरिया तक सड़क का निर्माण करने, बड़कुही अस्पताल में जेनेरिक दवाइयों की बजाए अच्छी दवाइयों से इलाज करने, कर्मचारियों को मकान उपलब्ध कराने, कर्मचारियों के आवास की मरम्मत कराने एवं आवास भत्ते की गड़बड़ी को दूर करने सहित तमाम मुद्दे शामिल हैं। आज से शुरू हुई भूख हड़ताल की शुरुआत में एटक संगठन से जुड़े पदाधिकारी एवं सदस्य भारी संख्या में महाप्रबंधक कार्यालय समीप आंदोलन स्थल पर उपस्थित थे।