अंबेडकर जयंंती पर नहीं होंगे आयोजन, घर पर ही दीपक जलाकर करेंगे स्मरण

अलीराजपुर/यतेंद्रसिंह सोलंकी

14 अप्रैल सविंधान निर्माता डॉ.भीमराव आंबेडकर की जयंती पर अलीराजपुर में हर साल जिला स्तरीय आयोजन कर बस स्टैंड पर सभा ओर रैली निकाली जाती है, फिर अम्बेडकर नगर जाकर बाबा साहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया जाता रहा है जिसमें जिलेभर से हजारों कार्यकर्ता ओर अम्बेडकर अनुयायी आते हैं।

लेकिन इस बार लॉकडाउन  को देखते हुए बाबा साहेब की जयंती इस सामूहिक आयोजन को रद्द करने का फैसला लिया गया है। प्रदेशभर के सामाजिक संगठनों ने आपस में बात कर 14 अप्रैल को होने वाले सभी आयोजन, कार्यक्रम निरस्त कर दिए है और इस सबन्ध में एक सन्देश जारी किया है।

इनका कहना है कि देश के साथ जिले में भी आगामी 14 अप्रैल को संविधान निर्माता, भारत रत्न बाबा साहेब की जयंती मनाई जाएगी लेकिन इस बार सब लोग घरों में सोशल डिस्टेन्स के साथ एक साथ अपने घरों में,दरवाजे,छतों पर दीपक जलाएंगे। सर्वसमाज की ओर से आम जनता से अपील की है के देश मे नारी मुक्ति के दाता, देश के प्रत्येक नागरिक को समान अधिकार दिलाने वाले सविंधान निर्माता की जयंती पर घर पर ही रहकर सम्मान देने को कहा है। प्रतिवर्ष शासन,प्रशासन स्तर पर डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती पर बड़े बड़े आयोजन होते है जो इस बार रद्द कर दिए जाएंगे।

आदिवासी समाज के कार्यकर्ताओं ने बताया के अलीराजपुर जिले में बाबा साहेब की एक मात्र मूर्ति अंबेडकर नगर तीखी इमली में ही है जहाँ 14 अप्रैल को सुबह 4 कार्यकर्ता जाएंगे और प्रतिमा पर सिर्फ माल्यार्पण करेंगे। उन्होने प्रशासन से भी निवेदन किया है के वो कोई आयोजन न करे किंतु बाबा साहेब की प्रतिमा के आसपास साफ सफाई का कार्य जल्दी पूरा करवाये। वहीं कोरोना से निपटने के लिए जिलेवासियों से घरों में ही रहकर सुरक्षित रहने की अपील की है। यदि किसी गरीब,दलित,या मज़दूर को किसी प्रकार की राशन,अनाज अथवा इमरजेंसी आवश्यकता हो तो आदिवासी समाज संगठन के किसी भी कार्यकर्ता से सीधे संपर्क करने की बात कही है।