पटवारी पर हमला, बदमाशों ने पैसे और बस्ता छीना, पटवारी संघ में आक्रोश

अलीराजपुर, यतेन्द्रसिंह सोलंकी। वर्तमान में कोरोना काल ही नहीं बल्कि अलीराजपुर जिले में येलो मोजैक से पीड़ित उड़द सोयाबीन फसल भी किसानों के लिए काल बनकर आई है। पिछले गत दिनों वरिष्ठ अधिकारियों के आदेश अनुसार पटवारियों द्वारा गठित दल के माध्यम से या कोई सहयोग ना मिलने पर भी गांव के किसानों मुखिया चौकीदार के साथ मिलकर गांव-गांव फलियों में जाकर बहुत ही कम समय में नुकसानी आंकलन कर अनुमानित प्रतिशत वरिष्ठ अधिकारियों को दिया। अब उसी प्रतिशत के आधार पर प्रत्येक पटवारी अपने हलकों में प्रभावित फसल नुकसानी का किसान वार सूची बनाकर b1 से मिलान एवं सारा एप से मिलान कर क्षति पत्रक बनाने में पिछले 4 दिनों से जुटे हुए हैं। ये देर शाम तक तहसील में अथवा बिना संसाधनों के भी किसी परिचित की दुकान पर ऑनलाइन पोर्टल पर या किसी साथी के लैपटॉप का सहारा लेकर नुकसानी को ऑनलाइन ओर एक्सेल शीट में फीड करने का कठिन कार्य रात दिन लगकर कर रहे हैं ताकि समय पर किसानों को उनकी प्रभावित फसल का उचित मुआवजा मिल सके।

ऐसे ही कार्य के दौरान तहसील सोंडवा मैं पदस्थ पटवारी अखिलेश शर्मा देर शाम तहसील से छूटकर जब अपने घर की ओर जा रहे थे तब बड़ी ओर आम्बुआ के बीच 3 अज्ञात बदमाशों द्वारा उन्हें पीछे से आकर बाइक से धक्का मारा गिराने के बाद मारपीट की और उनका बस्ता छीन लिया व पैसे निकाल लिए। इस बस्ते में संपूर्ण हल्के की किसानों की महत्वपूर्ण जानकारी एवं राजस्व रिकॉर्ड था, जिसे बदमाशों ने छीन लिया। घटना 14 सितंबर शाम 7:00 बजे के लगभग की है, घटना  के के बारे में जानकारी मिलते ही मध्य प्रदेश पटवारी संघ जिला अलीराजपुर ने संपूर्ण घटनाक्रम की निंदा करते हुए आक्रोश जताया है और आज  घटना के विरुद्ध कार्य न करने की बात कही है। साथ ही ये भी कहा है कि आगे तहसील स्तर पर सिर्फ कार्यालय समय में ही कार्य करेंगे। बता दें कि पिछले वर्ष 1 दर्जन से अधिक पटवारियों की सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो चुकी है जो कार्यालयीन समय के पश्चात भी हल्के अथवा तहसील में से घर लौट रहे थे, जिसको लेकर अलीराजपुर से पटवारी संघ द्वारा ज्ञापन देकर विरोध जताया था एवं कार्यालयीन समय के पश्चात किसी भी प्रकार के बैठक या दबाव संबंधित आदेश ना निकालने की मांग की थी। बावजूद जिले में इस प्रकार की घटना से पूरे जिले के पटवारियों में आक्रोश है।

मध्य प्रदेश पटवारी संघ जिला अलीराजपुर के अध्यक्ष नितेश अलावा ने कहा है कि की येलो मोजैक से प्रभावित उड़द सोयाबीन की फसल के नुकसानी आंकलन कर उसे सूचीबद्ध कर रहे पटवारी के साथ इस तरह की घटना न  सिर्फ पटवारी के खिलाफ है बल्कि फसल नुकसानी झेल रहे जिले भर के किसान विरोधी भी है। इस समय हम किसान के हित में कार्य जारी रखेंगे किंतु आज दिनांक 15 सितंबर को कोई भी पटवारी तहसील अथवा कार्यालय में ना जाकर जिलाधीश महोदय को ज्ञापन से ऐसी घटना से अवगत करवा कर आगे इस तरह की घटना ना हो, उसके लिए आरोपियों को जल्दी पकडने ज्ञापन देकर पटवारियों के प्रति संवेदना रखने हेतु वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देशित करने का निवेदन किया जाएगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here