गांवों में बिजली कटौती से किसान परेशान, कांग्रेस ने दी आंदोलन की चेतावनी

MP youth congress election 2020

अलीराजपुर, यतेंद्रसिंह सोलंकी। कांग्रेस ने बिजली कटौती को लेकर विरोध जताया है। उसने कहा है कि जिले के किसानों पर खरीफ सीजन में येलो मोजेक बीमारी ने कहर ढाया तो भाजपा सरकार ने किसानो का नाम मात्र का मुआवजा देकर ढिंढोरा पीट दिया। जबकि किसान अपनी बर्बाद हुई फसल को देखकर खून के आंसू रोता रहा। अब रबी सीजन में किसान नई फसल की बोवनी कर अपने परिवार का पालन पोषण करने के लिए मेहनत कर रहा है तो विद्युत कंपनी द्वारा बेतहाशा बिजली की कटौती लगातार की जा रही है। स्थिति ये है कि गांवो व खेतों में बिजली सप्लाई की ही नहीं जा रही है। ऐसे में किसान अपने खेतों में बोवनी और सिंचाई नहीं कर पा रहे हैं। कई गांवो में जली हुई और खराब डीपी भी नहीं बदली जा रही है। ऐसे में सरकार के सरंक्षण में विद्युत कंपनी अपनी मनमानी करते हुए किसानों को रबी की फसल भी नहीं लेने देंगे। लेकिन जिले के किसानों के हित में कांग्रेस पार्टी सरकार और विद्युत वितरण कंपनी के खिलाफ जल्द ही मोर्चा खोलेगी और विद्युत वितरण कंपनी का घेराव कर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। ये बात आलीराजपुर विधायक मुकेश पटेल और जोबट विधायक कलावती भूरिया ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कही।

विधायक पटेल और भूरिया ने कहा कि भाजपा सरकार किसानों विरोधी सरकार है। मुख्यमंत्री को किसानों से कोई सरोकार नहीं है। वो 15 साल में खेती को लाभ का धंधा नहीं बना पाए। कमलनाथ जी के नेतृत्व में किसानों का कर्जा माफ किया गया तो मुख्यमंत्री और उनके मंत्री इसे झूठलाने में लगे रहे। भाजपा सरकार ने कभी किसानों का भला नहीं किया और 15 साल तक वोट बैंक के रुप में इस्तेमाल किया। लेकिन अब किसान भाजपा की चालबाजियों को अच्छी तरह समझ चुका है। 28 विधानसभा के उप चुनाव में कांग्रेस सभी सीटे जीतकर आएगी और किसानों का कर्जा माफ किया जाएगा।

विधायक पटेल व भूरिया ने कहा कि आलीराजपुर और जोबट विधानसभा क्षेत्र के अधिकांश गांवों में विद्युत कंपनी द्वारा बेतहाशा बिजली कटौती की जा रही है। जिसके कारण किसान अपनी मोटर नहीं चला पा रहे हैं और खेती संबंधी कार्य नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि एक सप्ताह में भाजपा सरकार और विद्युत कंपनी ने गांवो और खेतों में पर्याप्त बिजली सप्लाई प्रारंभ नहीं की तो जिला मुख्यालय पर बडा जनआंदोलन किया जाएगा।