अलीराजपुर : तेज आंधी-तूफान में उड़े मकानों के चद्दर, विधायक ने हरसंभव मदद का दिया आश्वासन

आलीराजपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में आंधी तूफान से कई मकानों को भारी नुकसान हुआ है। विधायक मुकेश पटेल ने प्रभावित गांवों में पहुंचकर ग्रामीणों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है।

अलीराजपुर, यतेन्द्र सिंह सोलंकी। जिले के सोरवा-कटठीवाड़ा के ग्रामीण क्षेत्र में गुरूवार रात आए आंधी तूफान से कई मकानों को भारी नुकसान पहुंचा है। सबसे ज्यादा नुकसान बडदला और दरखड़ गांव में होना बताया जा रहा है। यहां कई मकान ढह गए और पेड़ उखड़ गए। वहीं दरखड़ में एक बैल के ऊपर पेड़ गिरने से उसकी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें:-VIDEO: सफाईकर्मी ने CMO को जड़ा थप्पड़, मचा बवाल, कलेक्टर के पास पहुंचा मामला

अलीराजपुर : तेज आंधी-तूफान में उड़े मकानों के चद्दर, विधायक ने हरसंभव मदद का दिया आश्वासन

प्राकृतिक आपदा की सूचना मिलते ही आलीराजपुर विधायक मुकेश पटेल (Alirajpur MLA Mukesh Patel) शुक्रवार अलसुबह प्रभावित गांवों में पहुंचे और ग्रामीणों के ढहे और क्षतिग्रस्त मकानों का निरीक्षण किया। उन्होंने ग्रामीणों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। वहीं मुसीबत की घड़ी में प्रशासनिक अमले की सुस्ती पर विधायक पटेल ने कड़ी नाराजगी जताई है।

इन गांवो में मचाई आंधी तूफान तबाही

विधायक पटेल ने बताया कि क्षेत्र के ग्र्राम दरखड और बडदला में आंधी तूफान से भारी नुकसान हुआ है। कई मकान पूर्णत: ढह गए और कई मकानों को भारी क्षति पहुंची है। इसके अलावा क्षेत्र ग्राम कियारा, रोडधू, वाकनेरी, जामला, मेहणी, सुमनियावाट, राक्सला, बडी वेगलगांव, छोटी वेगलगांव, सुखी बावडी में कई मकानों को पतरे, कवेलू उड गए और दीवारे भी गिर गई।

ग्रामीणों ने सुनाई आपबीती

विधायक पटेल को ग्राम बडदला के रमेश पिता छगन ने बताया कि गुरूवार रात करीब 9 बजे अचानक आंधी तूफान के साथ बारिश शुरू हो गई। मेरे मकान पर लगे 28 चद्दर उड़ गए और अनाज खराब हो गया। इसके अलावा ग्राम के भुरसिंह चिमलिया के 24 चद्दर, नरेश नायकडा के 16 चद्दर, कालू नायकडा के मकान के कवेलू टूट गए। चतरसिंह भुरसिंह की 3 फीट की दीवार टूट गई और बेवा कमली बाई दलसिंह के मकान से 8 चद्दर उड़ गई।

पेड़ के नीचे दबने से बैल की मौत

ग्राम दरखड के दोरा फलिया के नाथू पिता रालिया के बैल की पेड़ के नीचे दबने से मौत हो गई। ग्राम दरखड में दिरला पिता झेंदरिया के 24 चद्दर, जुवानसिंह पिता भेरला 15 चद्दर उड़ गए। इसी प्रकार अन्य गांवों में कई मकानों के चद्दर उड़ गए, पेड़ उखड गए और बिजली के खंभे भी गिर गए।

प्रशासनिक अमले की उदासीनता पर विधायक ने जताई नाराजी

आंधी तूफान से प्रभावित गांवों के भ्रमण के दौरान किसी भी गांव में विधायक पटेल को प्रशासन का कोई भी जिम्मेदार अधिकारी या कर्मचारी नहीं मिला। जिस पर ग्राम बडदला में विधायक पटेल ने पटवारी को फोन कर बुलवाया और पीड़ित परिवारों का सर्वे कर उनके प्रकरण बनाकर सहायता उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। इसी प्रकार अन्य गांवों में भी प्रशासन का कोई भी अधिकारी या कर्मचारी मौजूद नहीं था। विधायक पटेल ने कट्‌ठीवाडा तहसीलदार संतुष्टि पाल को फोन कर पटवारी को भेजकर मौका मुआयना करवाकर प्रकरण बनवाने के निर्देश दिए। क्षेत्र में आई प्राकृतिक आपदा के बावजूद प्रशासन की निष्क्रियता पर विधायक पटेल ने कड़ी नाराजगी जताते हुए कहा कि प्रशासन तुरंत ही आंधी तूफान ने प्रभावित गांवों में सर्वे करवाकर प्रत्येक पीडित परिवार को राहत सामग्री और नुकसान की भरपाई के लिए आवश्यक कदम उठाते हुए मुआवजा प्रकरण बनाकर आठ दिनों में मुआवजा प्रदान करें। यदि इस मामले में कोताही बरती गई तो जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेश पटेल के नेतृत्व में कांग्रेस द्वारा जंगी प्रदर्शन और उग्र आंदोलन किया जाएगा।