मौजा ही मौजा -तीन बीवियाँ, दो बनी सरपंच एक सरकारी कर्मचारी

अलीराजपुर, डेस्क रिपोर्ट। जिला मुख्यालय अलीराजपुर से लगभग 14 किलोमीटर दूर नानपुर गांव में रहने वाला समरथ इन दिनों सुर्खियों में है, दरअसल समरथ इसी साल 30 अप्रैल को उस वक़्त पूरे देश में चर्चा में आ गया था, जब उसने एक सार्वजनिक कार्यक्रम में एक साथ तीन युवतियों से विवाह किया था, समरथ ने 25 साल की सकरी, 28 साल की मेला और 30 साल की नानी बाई से एक साथ फेरे लिए थे, इन दिनों एक बार फिर समरथ लोगों के बीच चर्चा का विषय बने हुए है, समरथ की दो पत्नियों ने सरपंच का चुनाव जीता है।

यह भी पढ़ें…. इंदौर के सैफुद्दीन को पता भी नही था ये सफर अंतिम सफर होगा, पढ़े पूरी खबर

इन तीनों शादियों से  समरथ के तीन बेटे और तीन बेटियां हैं। समरथ ने  2003 में नानी बाई (शिक्षा विभाग में चपरासी), 2008 में मेला और 2017 में सकरी से विवाह किया। इस साल 30 अप्रैल को नानपुर में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में उन्होंने तीनों से औपचारिक तौर पर भी विवाह किया।’ समरथ भाजपा पार्टी के कार्यकर्ता है और पूर्व सरपंच भी रह चुके है, अब उनकी दो पत्नियों ने पंचायत चुनाव में जीत हासिल की है पूर्व सरपंच की दो पत्नियों के एक साथ सरपंच चुनाव जीत जाने से अलीराजपुर में हर तरफ़ इनके चर्चे है, हैरान करने वाली बात है कि समरथ चाहता था कि उसकी तीसरी पत्नी भी चुनाव लड़े लेकिन वह शिक्षा विभाग में चपरासी है और चुनाव लड़ने के चलते उसकी तीसरी पत्नी को शिक्षा विभाग में चपरासी की नौकरी छोड़नी पड़ती। फिलहाल समरथ अब लोगों को धन्यवाद देते हुए पूरे गांव में घूम रहे है। समरथ, भिलाला जनजातियों से है, उनके बीच बहुविवाह की मनाही नहीं है।