डायन समझकर महिला की हत्या, दो भाइयों ने 80 साल की वृद्धा को उतारा मौत के घाट

अंधविश्वास के चलते महिला की धारदार हथियार से हत्या

witch

अलीराजपुर, यतेंद्रसिंह सोलंकी। डायन (witch) समझकर एक और महिला की निर्मम हत्या (murder) का मामला सामने आया है। पुलिस ने अंधविश्वास (blind faith) के चलते वृद्धा की हत्या के मामले का खुलासा किया है। इसमें दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है जिन्होने धारदार हथियार से 80 साल की महिला की डायन होने के शक में हत्या कर दी थी।

विज्ञान भले ही मंगल ग्रह पर पहुंचने की तैयारी में हो, लेकिन आज भी समाज में अंधविश्वास का अंधेरा इस कदर व्याप्त है कि लोग बड़े से बड़ा अपराध करने से भी नहीं चूकते। एक बार फिर महिला को डायन बताकर उसकी निर्मम हत्या का मामला सामने आया है। पुलिस के मुताबिक सोरवा निवासी गुजरी बाई (80 वर्ष) अपनी बेटी के घर चांदपुर आई हुई थी। बेटी से मिलकर शाम के समय वो वापस अपने गांव सोरवा जा रही थी, इस दौरान महिला चांदपुर के रहने वाले लक्ष्मण के घर के सामने से गुजरी तो लक्ष्मण को शंका हुई कि यह महिला डायन है। पहले तो लक्ष्मण और उसके भाई फतु ने गुजर बाई को घर के सामने से भगा दिया। लेकिन फिर कुछ देर बाद कुछ ही दूरी पर पहुंची वृद्धा की धारदार हथियार से हत्या कर दी।

आरोपी का कहना है कि दो साल पहले अचानक ही उसरी बेटी की मौत हो गई थी और उसे किसी डायन ने ही मारा था। यह वृद्ध महिला भी उसे डायन जैसी लगी जो उसके घर के पास टोना टोटका करने आई थी। आरोपी ने कहा कि उसे डर लगा कि महिला टोना टोटका कर उसके परिवार को खत्म करना चाहती है, इसीलिए उसने अपने भाई के साथ मिलकर वृद्धा की हत्या कर दी। मामले में जांच के बाद से आरोपियों की तलाश थी और चांदपुर थाना प्रभारी को मुखबिर से सूचना मिली थी कि आरोपी लक्ष्मण और फत्तू गांव में घूम रहे हैं। इसके बाद पुलिस ने दबिश देकर दोनों आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। चांदपुर थाना प्रभारी ने मर्ग कायम कर लिया है। इस मामले की सूचना मिलते ही एसपी विपुल श्रीवास्तव भी मौके पर पहुंचे और हत्या के मामले में जांच टीम गठित की थी। जांच के दौरान पुलिस ने पाया कि वृद्ध महिला की हत्या अंधविश्वास के चलते हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here