अनूपपुर के कोविड सेंटर में अव्यवस्थाओं का आलम, मरीजों की शिकायतें भी बेअसर

अनूपपुर, मो अनीश तिगाला

अनूपपुर जिले में स्थित कोविड सेंटर में फैली अव्यस्थाओं की चर्चा जोरों पर है। वहाँ भर्ती कोरोना संक्रमित मरीजों और हमारे सूत्रों की माने तो कोविड सेंटर से जो हालात है, वो बद से बदतर होते जा रहे हैं। एक तरफ गंदगी का आलम है तो दूसरी तरफ मरीजों को पौष्टिक भोजन नही मिल रहा है। कलेक्टर ने कोरोना क्वारंटाइन सेन्टरों के लिए जो भोजन का मेन्यू निर्धारित किया गया है उसका भी पालन कोविड सेंटर में नही किया जा रहा है। यहां तक कि गर्म पानी की व्यवस्था भी इस कोविड सेंटर में नहीं है।

क्वारेंटाइन सेन्टर में ना तो साफ सफाई है, वहीं बाथरूम और वॉशबेसिन का बुरा हाल है। कोविड सेंटर में अब तक 153 मरीजों का इलाज हो चुका है जिसमें से 104 मरीज ठीक हो कर अपने अपने घर में जा चुके हैं। अभी भी 49 मरीज इस सेंटर में स्वास्थय लाभ ले रहे हैं और इन मरीजों की मानें तो खाने की क्वालिटी बेहद खराब है। जिस मानक का खाना कोविड 19 के मरीजों की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए जरूरी होता है वो इन मरीजों को नहीं मिल रहा, यहां तक कि मरीज भोजन को कचरे के डब्बे में फेकने को मजबूर हैं।

सूत्रों की मानें तो क्वारेंटाइन सेंटर के अन्दर गमले में गांजे का पौधा उग रहा है। जिस कोविड सेंटर में पुलिस कर्मी इलाजरत हो, कई शासकीय कर्मचारी भर्ती हो और जिला प्रशासन को इस बात की भनक भी ना लगे कि गमले में गांजे का पौधा पनप रहा है। ऐसे में यहांं की अव्यवस्थाओं को लेकर प्रशासन की लापरवाही और मरीजों की दिक्कत खत्म होने का नाम नहीं ले रही।